गगरेट में पंजीकृत Workers को 70% नकद भुगतान करने का प्रावधान

ezgif.com-resize(5)

जिला ऊना के गगरेट में Workers को कर्मचारी राज्य बीमा निगम से दी जाने वाली सुविधाओं के प्रति Aware करने के लिए Industrial Area Gagret में स्थित MBD Printographics उद्योग में एक Awareness Camp का आयोजन किया गया। इस Camp में Workers को मिलने वाली सुविधाओं के प्रति Aware किया गया। जबकि Staff राज्य बीमा निगम में लगाए गए स्वास्थ्य शिविर में डाक्टरों ने लगभग डेढ़ सौ Workers के स्वास्थ्य की जांच भी की। Staff राज्य बीमा निगम के बद्दी कार्यालय से आए जन संपर्क अधिकारी चंद्र शेखर एवं शाखा कार्यालय मैहतपुर से आए शाखा प्रबंधक धर्मपाल ने Workers को Aware करते हुए कहा कि Staff राज्य बीमा निगम द्वारा Workers की सुविधा के लिए कई Welfare Plans आरंभ किए गए हैं।

सेवानिवृति के पश्चात भी बीमाकृत व्यक्ति को उपचार सुविधा का लाभ

Staff राज्य बीमा निगम के साथ पंजीकृत Workers ओर उनके अनुजीवियों के लिए मुफ्त चिकित्सा सुविधा का भी प्रावधान है। जबकि बीमारी की वजह से छुट्टी करने पर भी पंजीकृत Worker को उस समय के लिए औसत दैनिक वेतन का 70% नकद भुगतान करने का भी प्रावधान किया है। स्त्री Workers के लिए मातृत्व छुट्टियों के उपरांत 26 हफ्ते तक की छुट्टी पर भी 12 हफ्ते का शत-प्रतिशत वेतन के भुगतान का प्रावधान है। यहां तक कि Staff राज्य बीमा निगम रोजगार के उपरांत चोट लगने पर हुई मृत्यु के कारण भी आश्रितजन के बीच नियत अनुपात से मासिक पेंशन का भुगतान भी किया जाता है। इसके साथ ही पंजीकृत Workers की सेवानिवृति के पश्चात भी बीमाकृत व्यक्ति को उपचार सुविधा का लाभ प्रदान किया जाता है।

बीमाकृत व्यक्ति के बच्चों के लिए MBBS में Admissions के लिए Seats भी आरक्षित

बताया गया कि कर्मचारी राज्य बीमा निगम द्वारा संचालित Medical colleges में बीमाकृत व्यक्ति के बच्चों के लिए MBBS में Admissions के लिए Seats भी आरक्षित की गई हैं। इसके पश्चात लगाए गए स्वास्थ्य शिविर में बीमाकृत Workers के स्वास्थ्य की मुफ्त में जांच की गई और उन्हें दवाएं भी मुफ्त वितरित की गईं। इससे पहले उपमंडल औद्योगिक संघ के Officials ने संघ के महासचिव सुरेश शर्मा की अगुवाई में यहां कर्मचारी राज्य बीमा निगम की अलग Dispensary खोलने की मांग भी रखी। इस मौके पर उपमंडल औद्योगिक संघ के महासचिव सुरेश शर्मा, एमबीडी उद्योग के प्रबंधक जगदीश डोगरा, तिगाकशा मेटेलिक्स के चंचल शर्मा, राकेश कालिया, संजय शर्मा, बलवंत सिंह एवं सिविल हॉस्पिटल गगरेट के डाक्टर सुजाता व डॉक्टर हर्षा भी शामिल थे।