केंद्रीय विश्वविद्यालय ने नहीं की कोई करवाई, लिखित शिकायत के इंतजार में (CU) के प्रबंधन

हिमाचल प्रदेश में हाल ही में हुए पत्रकारिता विषय की पीएचडी प्रवेश परीक्षा में वर्ष 2017 के प्रश्न पत्र के सवाल दोहराने का मामला सामने आया था। जिस बजह से छात्रों ने परीक्षा को रद्द करवाने के लिए सवाल उठाये थे।

मगर अभी तक सीयू प्रबंधन ने किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की केंद्रीय विश्वविद्यालय प्रशासन अभी तक करवाई तो की नहीं है, बल्कि लिखित शिकायत का इंतजार कर रहा है। जिससे केंद्रीय विवि की परीक्षा नियंत्रक कार्यालय की कार्य प्रणाली सवालों के घेरे में आ गई है।

सीयू के कार्यकरणी में उठे सवाल

परीक्षार्थियों का आरोप है कि सीयू की पेपर सेटिंग टीम ने 50 नहीं बल्कि 57 प्रश्न वर्ष 2017 में हुई पीएचडी की प्रवेश परीक्षा से डाले थे। जिस से प्रशाशन में बहुत से उठाए है। बताया जा रहा है, की सीयू प्रशासन इसको लेकर अभी तक कोई भी कार्रवाई करने की गुरेज कर रहा है।

प्रशासन की ओर से लिखित शिकायत आने के बाद कार्रवाई करने का हवाला दिया जा रहा है। केंद्रीय विवि के स्कूल ऑफ जर्नलिज्म के दो विभागों नौ प्राध्यापक हैं, जो हर महीने लाखों रुपये वेतन लेते हैं।

एबीवीपी करेंगी परीक्षा नियंत्रक का घेराव

केंद्रीय विश्वविद्यालय प्रशासन की लापरवाही को देखते हुए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने सीयू में परीक्षा नियंत्रक का घेराव करने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही एबीवीपी के प्रदेश सचिव राहुल राणा द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार शोध कार्य की परीक्षा में इस तरह की गलती से स्पष्ट होता है

प्रशासन अपनों को प्रवेश देना चाहता है। इसके साथ ही राहुल राणा ने यह भी कहा की एबीवीपी परीक्षा नियंत्रक का घेराव करेगी। और जल्द से जल्द इस पर करवाई करने की सरकार से गुहार करेगी।

Central University did not get any action, waiting for written complaint (CU) management

Related Posts