प्रदेश में कोरोना वायरस के खौफ की बजह से बंद रहेंगे सभी मंदिर और धार्मिक स्थल, आरती की होगी वेबकास्टिंग

हिमाचल प्रदेश में आगामी आदेश तक मंदिर और सभी धार्मिक स्थल बंद करने का आदेश सरकार ने जारी किया है। इसी दौरान मंदिरों में पूजा विधिवत होती रहेगी लेकिन श्रद्धालु मंदिर परिसरों में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। जिस का कारण मंदिर में बहुत से श्रदालु देश विदेश से दर्शन के लिए आते तथा उन श्रद्धालुओं को सुरक्षित रखने के लिए सरकार ने यह कदम उठाया है।

मंदिर की आरती की होगी वेबकास्टिंग

इसी साथ पर्टयकों की सुविधा के लिए आरती की वेबकास्टिंग की जाएगी। विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान की ओर से जारी आदेश के अनुसार जिला प्रशासन की अनुमति के बिना जगराते, लंगर, सत्संग, पार्टियों का आयोजन नहीं किया जा सकेगा। जिस बजह से मंदिरो में श्रदालु एकत्रित नहीं हो पाएंगे।

श्री ज्वालामुखी, श्री बज्रेश्वरी देवी व श्री चामुंडा नंदिकेश्वर धाम में दर्शन बंद

प्राप्त जानकारी के अनुसार कांगड़ा के उपायुक्त राकेश प्रजापति ने आदेश जारी करते हुए जिले के तीनों शक्तिपीठों (श्री ज्वालामुखी, श्री बज्रेश्वरी देवी व श्री चामुंडा नंदिकेश्वर धाम) को मंगलवार सायं से बंद करने का आदेश दिया है। यहां हर रोज़ भारी मात्रा में सैलानी तथा श्रदालु दर्शन के लिए आते है।

कोरोना वायरस को महामारी घोषित करने के बाद प्रदेश सरकार ने मास्क व सैनिटाइजर को आवश्यक वस्तुओं की सूची में शामिल कर दिया है। इनकी जमाखोरी करने पर 07 साल की कैद व जुर्माना हो सकता है। इस लिए प्रदेश भर के धार्मिक तीर्थस्थलों में कुछ समय तक दर्शन बंद किये गए है।

All temples and religious places will be closed due to fear of Corona virus in the state, Aarti will be webcasting

Related Posts