ऊना जिले में खनन नियमों में किए गए बदलाव को लेकर Crusher association ने सरकार के विरुद्ध उठाई आवाज

unaaa

प्रदेश के ऊना जिले में खनन एवं खनन Material की ढुलाई को लेकर जारी नए Instructions को लेकर जिला Crusher association ने सरकार के विरुद्ध आवाज ऊपर उठा दी है। जिला खनिज अधिकारी के साथ उनकी शनिवार को बैठक हुई।

कुछ लोग Lease holders को Criminals की तरह कर रहे पेश

इसके पश्चात Crusher association के Officials ने अध्यक्ष राजिंदर ठाकुर की अध्यक्षता में Association की बैठक की। पदाधिकारियों ने बताया कि उनके साथ Criminals जैसा व्यवहार किया जा रहा है, जबकि उन्नति में उन सबका सबसे बड़ा सहयोग है। Association ने जानकारी दी कि जो सरकार के द्वारा अब नियम बनाए गए हैं वह व्यवहारिक ही नहीं हैं। इन नियमों में न तो किसी निर्माण कार्य का और न ही सड़कों समेत अन्य कार्यों के लिए कोई भी Material मिल पाएगा। जिस किसी के द्वारा भी यह नियम बनाए गए हैं उनको वास्तविकता का ज्ञान ही नहीं है।

वह अपने Crushers एवं लीजों के दस्तावेज सरकार व खनिज विभाग को सौंप देंगे जिससे कि वह अपने Guards के जरिए इनका संचालन कर सच्चाई का पता लगाएं। कुछ लोग Lease holders को Criminals की तरह पेश कर रहे हैं, जबकि वह सभी कानूनों के अंतर्गत ही खनन कर रहे हैं।

पंजाब की तर्ज पर बनाई जाए Policy : राजिंदर ठाकुर

Crusher association के अध्यक्ष राजिंदर ठाकुर ने बताया कि राजनीतिक हितों के लिए Crusher मालिकों व लीज होल्डरों के विरुद्ध दुष्प्रचार किया जा रहा है। राजिंदर ठाकुर ने कहा कि पंजाब की तर्ज पर Policy बनाई जाए एवं JCB मशीनों के जरिए ही खनन की आज्ञा दी जाए। जो नए सिद्धांत बनाए गए हैं उनके अनुसार किसी भी प्रकार से न तो कोई Crusher चल सकता है और न ही लीज एरिया से खनन किया जा सकता है। ऐसे में वह कोई भी लीज मनी सरकार को नहीं देंगे।

यदि इसके लिए सरकार न मानी तो सारे प्रदेश में Crusher Industry को ही बंद कर दिया जाएगा। Association के पदाधिकारी कपिल शर्मा, मदन ठाकुर, विशाल शर्मा, हरीश शर्मा, रविंद्र कुमार, सुरेंद्र, संदीप कुमार, नरेश, विश्वजीत पटियाल, यशपाल ठाकुर, मनोज, भावेश ठाकुर, कमल ठाकुर, राजेन्द्र भारती एवं राम दत्ता आदि बैठक में उपस्थित रहे।