धर्मशाला में सड़को में उतरे एबीवीपी के कार्यकर्ता, सरकार के खिलाफ जमकर की नारेबाजी

हिमाचल प्रदेश में सीयू को लेकर एबीवीपी के कार्यकर्ता ने भाजपा सरकार को घेर लिया है। एबीवीपी ने आरोप लगाया है। कि कांग्रेस की तरह भाजपा ने भी वोट के लिए राजनीति कर रही है। शिलान्यास के एक साल बाद भी केंद्रीय विवि के स्थायी परिसरों का निर्माण नहीं हो पाना भाजपा सरकार की नाकामी है। जिस की बजह से छात्रों को सड़क में उतरना पड़ा है।

संगठन ने बुधवार को सरकार के खिलाफ धर्मशाला में हल्ला बोला। और धर्मशाला में जिला भर के छात्रों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारे बाज़ी की है।

काँगड़ा जिला के विभिन्न स्थानों से छात्रों ने हिस्सा लिया

प्रदेश में प्रदर्शन के लिए केंद्रीय विवि के लिए काँगड़ा जिला के विभिन्न स्थानों से छात्रों ने हिस्सा लिया जिसमे धर्मशाला, शाहपुर और देहरा परिसरों के अलावा हिमाचल प्रदेश विवि के क्षेत्रीय केेंद्र खनियारा, कांगड़ा, नगरोटा, तकीपुर, डीएवी कांगड़ा, मटौर, शाहपुर और धर्मशाला कॉलेज के छात्र मौजूद रहे।

प्रदेश सचिव राहुल राणा ने कहा कि पिछले 23 दिन से एबीवीपी कार्यकर्ता कक्षाओं का बहिष्कार कर आंदोलन कर रहे हैं। मगर अभी तक सरकार पर किसी प्रकार का कोई प्रभाव् नहीं पद रहा है।

शाहपुर स्थित अस्थायी परिसर में भी कि थी मोमबत्तियां जलाकर शोक सभा

इसके साथ ही एबीवीपी ने 21 फरवरी को शाहपुर स्थित अस्थायी परिसर में मोमबत्तियां जलाकर शोक सभा भी की। इसके बावजूद कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया गया। जिसके चलते छात्रों को सड़कों पर उतरना पड़ा है। अगर अभी भी सरकार ने कोई करवाई नहीं की तो एबीवीपी ऐसे ही और भी बहुत से धरने और रैलीया निकलती रेहगी।

यदि अभी भी सरकार ने कदम नहीं उठाया तो आंदोलन को उग्र रूप दिया जाएगा (राहुल राणा)

इसके साथ ही यह भी कहा की यदि प्रदेश सरकार ने जल्द कोई कदम नहीं उठाया तो आंदोलन को उग्र रूप दिया जाएगा। जरूरत पड़ने चलो धर्मशाला के बाद चलो शिमला और दिल्ली का नारा दिया जाएगा।

इस मौके पर एबीवीपी के चंबा-कांगड़ा विभाग के संगठन मंत्री धनदेव ठाकुर और कांगड़ा जिला संगठन मंत्री साहिल चंदेल सचिन, नवदीप कौशल आदि छात्र नेता भी मौजूद रहे। इन के साथ और भी बहुत से मत्वपूर्ण कार्यकर्ता इस रेकली में मौजूद रहे।

ABVP workers descended on roads in Dharamshala, shouting slogans against the government

Related Posts