गगरेट अस्पताल में Duty से ही गायब डॉक्टर, Patient के लिए परेशानी

docter

ऊना गगरेट विश्व में फैली हुई कोरोना वायरस की दहशत के बीच आप चाहे बच भी जाएं,परन्तु यहां उपचार में हो रही कमी आपको छोटी सी बीमारी के कारण भी संकट में डाल सकती है। डॉक्टर पीडि़त मानवता की सेवा करने की जगह पर केवल आजीविका अर्जित करने का साधन मानने लगे हैं। Autocracy ऐसी कि किसी को भी अपनी Duty की परवाह तक नहीं। सोमवार के दिन जब Civil Hospital Gagret का दौरा किया तो OPD के अंदर व बाहर मरीज ही मरीज नजर आए, परन्तु वहां के डॉक्टर अपनी कुर्सियों से लापता मिले। पूछने पर कवाल यही पता चला कि डॉक्टर बाबू अभी तक आए नहीं हैं।

Civil hospital में 6 डॉक्टर तैनात परन्तु 1 भी डॉक्टर नहीं मिला Duty पर

सोमवार सुबह 10 बजे हॉस्पिटल गगरेट की OPD के बाहर पहुंचे तो Patients की भीड़ जुट चुकी थी। रविवार की छुट्टी के कारण भी सोमवार को OPD में अपेक्षाकृत अधिक Patients पहुंचे थे। OPD में डॉक्टर के बैठने के लिए बने कमरे में डॉक्टरों की 3 कुर्सियां लगी थीं, परन्तु तीनों कुर्सियां खाली थीं। आंखों की जांच के लिए हॉस्पिटल में तैनात किए गए Ophthalmic Officer के कमरे पर भी लटका ताला Patients के मुंह चिढ़ा रहा था।

डॉक्टर रोगी वार्डों में Patients का हाल जानने न गए हों इसलिए भी टीम ने रोगी वार्डों का रुख किया, परन्तु रोगी वार्डों में भी कोई डॉक्टर नहीं मिला। 10 बजकर 4 मिनट पर दंत चिकित्सक हॉस्पिटल में दाखिल हुईं, जोकि अभी अपने घर से आई थीं। पूछने पर Patient से पता चला कि सवेरे साढ़े 9 बजे हॉस्पिटल खुलने का समय है। डॉक्टर के पास नंबर शीध्र आ जाए इसलिए कुछ Patient यहां 9 बजे ही पहुंच गए थे, परन्तु डाक्टर बाबू अभी तक OPD में ही नहीं पहुंचे थे। Civil hospital में 6 डॉक्टर तैनात हैं, परन्तु हैरत की बात है कि 1 भी डॉक्टर Duty पर नहीं मिला।

डॉक्टर भी Patients को छोड़ गए दवा की जगह दुआ के सहारे

शायद डॉक्टर भी Patients को दवा की जगह दुआ के सहारे पर ही छोड़ गए थे। क्या डॉक्टरों के इस रवैये से प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं सुरक्षित होंगी। क्या स्वास्थ्य विभाग डॉक्टरों के इस लापरवाह आचरण का हस्तक्षेप लेगा, ताकि जिनके लिए ये हॉस्पिटल खुले हैं एवं जिनकी सेवा के लिए डॉक्टरों को तैनात किया गया है, जिससे कि उनको लगे कि जनता द्वारा जनता के लिए चुनी गई सरकार को हकीकत में जनता की परवाह है। उधर, खंड विकास अधिकारी डॉक्टर एसके वर्मा का कहना है कि समय पर Duty पर न पहुंचने वाले डॉक्टरों से जवाब तलब किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसी कोई लापरवाही न हो इस पर भी ध्यान दिया जाएगा।