हवलदार जोरावर सिंह को मरणोपरांत किया सेना मेडल से सम्मानित

india army

हिमाचल प्रदेश के जिला काँगड़ा में स्तिथ उपमंडल शाहपुर की पंचायत रैत के शहीद हवलदार जोरावर सिंह को मरणोपरांत सेना मेडल से सम्मानित किया गया। हिमाचल प्रदेश की झोली में एक और सेना मैडल आया है। यह सेना मेडल उनकी पत्नी सरंजना कुमारी को नॉर्दन कमांड उधमपुर में 27 फरवरी को आर्मी के नए चीफ जनरल मनोज मुकंद नरवणे द्वारा दिया गया।

हवलदार जोरावर सिंह जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रीय राइफल में कार्यरत थे। उन्होंने 21 मार्च, 2018 को फतेह खान चक जंगल में आंतकवादियों द्वारा हमला करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई के दौरान गोली लगने से वह घायल हो गए।

160 टीए रेजिमेंट में दे रहे थे अपनी सेवाएं

इसके बाद भी उन्होंने गंभीर चोट लगने के बावजूद भी लगातार आंतकवादियों की फायरिंग का सामना करते रहे थे, जब तक उन्होंने आंतकवादी को मार नहीं दिया तब तक वो फायरिंग करते रहे। इस बहादुरी और शौर्य के अद्भुत प्रदर्शन करते-करते हवलदार जोरावर सिंह को वीरगति प्राप्त हुई।

हवलदार जोरावर सिंह सेना की 160 टीए रेजिमेंट में सेवारत थे। उन के इस अद्भुत शौर्य और वीरता के लिए देश के साथ प्रदेश को भी गर्व है।

Havildar Zorawar Singh posthumously awarded the army medal