हिमाचल का आशीष चौधरी दिखायेगा, ओलंपिक में अपना दम ख़म,

sunder nagar

हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी के सुंदरनगर निवासी आशीष चौधरी भारतीय बॉक्सिंग टीम के सदस्य है। आशीष ने जॉर्डन में आयोजित ओलंपिक मुकाबले के क्वार्टर फाइनल में इंडोनेशिया के बॉक्सर को हराकर ओलंपिक के लिए अपनी जगह बना ली है। उन्होंने ओलंपिक में स्थान पक्का कर लिया है।

आशीष चौधरी ने अपनी जीत को अपने दिवंगत पिता भगत राम चौधरी को समर्पित किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार आशीष चौधरी ने बताया कि एक माह पहले ही उनके पिता की आकस्मिक मौत हो गई जिसके कारण हम पूरी तरह से टूट चुके थे।

जीत का श्रेय अपने गुरु जनों और माता-पिता के आशीर्वाद को दिया

उन्होंने कहा की परिवार के विश्वास और पिता की इच्छा को पूरी करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया, जिसके कारण आज वह इस मुकाम तक पहुंच पाए हैं। आशीष चौधरी ने कहा कि वह अपने पिता के सपने को पूरा करने के लिए पूरी आत्मीयता के साथ प्रतियोगिता में लड़े हैं।

उन्होंने यह भी कहा की आगे भी वो अपनी पुरे मेहनत और लग्न के साथ मुकावला करेंगे। आशीष ने अपनी जीत का श्रेय अपने गुरु जनों और माता-पिता के आशीर्वाद को दिया है।

इंडोनेशिया के बॉक्सर मुस्किता को हराकर ओलंपिक में अपनी जगह बनाई

प्रदेश का यह होनहार आशीष चौधरी वर्तमान में जिला मंडी के धर्मपुर में तहसील कल्याण अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं। इसके साथ ही हिमाचल प्रदेश से वह पहले ऐसे बॉक्सर एवं खिलाड़ी हैं। जिसने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है। इस मुकाम के साथ आशीष चौधरी के घर में और पुरे सुंदर नगर में खुशी की लहर दौड़ गई है।

आशीष चौधरी के पूर्व कोच नरेश सेन ने खुशी जताई

आशीष चौधरी देर रात हुए मुकाबले में क्वार्टरफाइनल में इंडोनेशिया के बॉक्सर मुस्किता को हराकर ओलंपिक के लिए अपनी दावेदारी पेश की है। इसके साथ ही आशीष चौधरी की जीत पर उनके पूर्व कोच नरेश सेन ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा है कि ओलंपिक में भी आशीष चौधरी बेहतर प्रदर्शन कर हिमाचल ही नहीं देश का नाम रोशन करेंगे।