हिमाचल प्रदेश के सरकारी कार्यालय में बाहरी लोगो के प्रवेश पर रोक

coroana

हिमाचल प्रदेश में फैले कोरोना वायरस के खौफ की बजह से हिमाचल सरकार ने बाहरी लोगो के प्रवेश पर रोक लगा दी है। सरकार ने सरकारी विभागों के लिए नई एडवाइजरी जारी करते हुए दफ्तरों में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगाने के निर्देश दिए है। इसके अलावा सरकारी कार्यालय में फाइलों की मूवमेंट को कम से कम करके ई-मेल और पत्राचार को प्राथमिकता देने को कहा है।

इसी के साथ सरकारी दफ्तरों में मास्क व सेनेटाइजर को अनिवार्य किया गया है। बिना मास्क और सेनेटाइजर से कर्मचारियों को भी प्रवेश नहीं मिलेगा सभी को मास्क लगाने के निर्देश दिए गए है।

कार्यालयो में आने वाले लोगों के लिए सेनेटाइजर की सुविधा प्रदान करने के निर्देश

प्रदेश में स्तिथ कार्यालयो में आने वाले लोगों के लिए सेनेटाइजर की सुविधा प्रदान करने के निर्देश दिए गए हैं। बैठकों के आयोजन की जगह वीडियो कान्फ्रेंस को प्राथमिकता देने को कहा है। प्रदेश सरकार ने अपने अधिकारियों-कर्मचारियों को इस अवधि में अनावश्यक आवाजाही से बचने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही अधिकारियों-कर्मचारियों को चेताया गया है

कि कोरोना वायरस को लेकर किसी तरह की अफवाह व सनसनी न फैलाई जाए। इसी दौरान मुख्य सचिव अनिल कुमार खाची ने जारी एडवाइजरी में कहा है कि समुचित सफाई व्यवस्था बनाए रखें। और प्रदेश में इस वायरस को लेकर जागरूकता फैलाई जाए।

 सरकारी कार्यालयों हैंड वॉश की सुविधा उपलब्ध करवाई जाए

प्रदेश में स्तिथ सरकारी कार्यालयों में प्रवेश करने वाले हर व्यक्ति को सेनेटाइजर या हैंड वॉश की सुविधा उपलब्ध करवाई जाए। इसके साथ ही वॉशरूम में हैंड सेनेटाइजर, साबुन और पानी की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। कार्यालय में यदि किसी भी कर्मचारी को फ्लू से संबंधित लक्षण, बुखार या सांस लेने में दिक्कत हो,

तो उसे सक्षम प्राधिकारी की परमिशन से छुट्टी प्रदान करने के साथ-साथ उसके उचित ईलाज की व्यवस्था करवाई जाए। ताकि वो अपनी जांच और उपचार कराया जाए। इसके अलावा विभिन्न कार्यालयों में बाहरी लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध, कमी, नियमित व उचित स्क्रीनिंग सुनिश्चित करवाई जाए।

केवल महत्त्वपूर्ण बैठकें ही आयोजित की जाए

इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि महत्त्वपूर्ण बैठकें ही आयोजित की जाए और ज्यादा तर वीडियो कान्फ्रेंसिंग की सुविधा का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करने सहित कार्यालय में ट्रेवलिंग कम से कम की जाए। उन्होंने कहा है कि कार्यालय भवन के निर्धारित एंट्री प्वाइंट पर डाक को भेजने व प्राप्त करने के विशेष इंतजाम किए जाएं।

फाइलों और दस्तावेज का प्रयोग कम से कम किया जाए। उन्होंने यह भी कहा की जहां तक संभव हो सके ई-मेल के माध्यम से ही पत्राचार किया जाए। और ज्यादा से ज्यादा सोशल नेटवर्किंग के माद्यम से सरकारी कार्य किये जाए।

Ban on entry of external people in Himachal Pradesh government office