हिमाचल प्रदेश ग्रामीण बैंक कर्मचारियों का बड़ा फैसला, बोर्ड मीटिंग तक नहीं किया जायेगा आंदोलन

हिमाचल प्रदेश ग्रामीण बैंक ऑफिसर आर्गेनाजेशन एवं कर्मचारी संघ ने बैंक अध्यक्ष द्वारा संगठन को दिए गए आश्वासन के दृष्टिगत घोषित आंदोलन कार्यक्रम को फिलहाल स्थगित करने का निर्णय लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार यदि बैंक कर्मियों की मांगें बोर्ड की प्रस्तावित बैठक 13 मार्च को स्वीकार नहीं की जाती हैं, इस स्तिथि में तो संगठन लंबे आंदोलन करेगा। इसी के साथ संघ की कार्यसमिति की बैठक का आयोजन रविवार को हमीरपुर में किया गया है।

भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष डीसी शर्मा द्वारा की गई अध्यक्षता

प्रदेश में इस बैठक की अध्यक्षता भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष डीसी शर्मा द्वारा की गई। बैठक में संगठन द्वारा प्रस्तावित आंदोलन कार्यक्रम पर विस्तार से चर्चा की गई है। इसी के साथ संगठन ने बैंक स्टाफ की मांगों के बारे में बैंक प्रबंधन के उपेक्षापूर्ण रवैये के दृष्टिगत 21 मार्च को बैंक मुख्यालय पर

धरना प्रदर्शन 11 अप्रैल को विरोध रैली व बैंक निदेशकों को ज्ञापन पत्र और 27 अप्रैल को एक दिवसीय हड़ताल किए जाने का निर्णय लिया था। इसी के साथ बैंक स्टाफ की प्रमुख मांगों में सभी बैंक शाखाओं के कोषाध्यक्षों को रोकड़ भत्ता दिया जाए।

कर्मचारी संघ के महासचिव नरेंद्र सिंह के साथ और भी बहुत से कार्यकर्ता रहे मौजूद

इसी के साथ समाचार पत्र भुगतान, यात्रा भत्ता, आवास भत्ता, अर्जित अवकाश 270 दिन संचित करना, 150 प्रतिशत आवास भत्ता, पेट्रोल सुविधा, सिल्वर-जुबली सुविधा, आवास व वाहन ऋण सुविधा, ओवर ड्राफ्ट ऋण, स्टाफ की कमी को दूर करना, संचालित बैंक मानदंड पर संशोधित दरों पर लागू करना शामिल है। इस बैठक में ऑफिसर आग्रेनाइजेशन के क्षेत्रीय अध्यक्ष बीएम ऐरी, महामंत्री

विवेक दीक्षित, कर्मचारी संघ के महासचिव नरेंद्र सिंह, आफिसर आर्गेनाजेशन के आर्गेनाइजिंग सचिव मनजीत सिंह गथानिया, क्षेत्रीय कार्यकारिणी सचिव रवि राठौर, अर्जुन गोस्वामी, कुलदीप चंद, सुनील कुमार, अंकुश परमार, अभज राजा, अमनदीप डोगरा, सुभाष चंद, अनुज, अमन सहित आदि बैठक में भाग लिया।

Big decision of Himachal Pradesh Gramin Bank employees, movement will not be done till board meeting

Related Posts