हिमाचल प्रदेश की स्मार्ट सिटी शिमला और धर्मशाला को 100 करोड़ का प्रावधान

smart

हिमाचल प्रदेश में स्मार्ट सिटी शिमला और धर्मशाला को प्रदेश सरकार ने 100 करोड़ रुपए की राशि का बजट में प्रावधान लागू किया गया है। प्रदेश की राजधानी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बजट भाषण में कहा कि इन दोनों शहरों को जल्द स्मार्ट सिटी में तबदील करने के लिए प्रदेश सरकार ने अनुदान के रूप में 50 प्रतिशत वित्तीय राशि जारी की है।

स्मार्ट सिटी के कार्यों में तेजी आने की उम्मीद बढ़ गई

प्राप्त जानकरी के अनुसार अब स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए 100 करोड़ रुपए का प्रावधान रखा है। हिमाचल के लोकप्रिय पर्टयक स्थान शिमला और धर्मशाला में स्मार्ट सिटी के लिए बजट का प्रावधान होने के बाद दोनों ही शहरों में स्मार्ट सिटी के कार्यों में तेजी आने की उम्मीद बढ़ गई है। जिस से हिमाचल प्रदेश के शिमला और धर्मशाला में बहुत से विकाशील कार्य किये जाते है।

होंगे विकाशील कार्य

प्रदेश के स्मार्ट सिटी के तहत किए जाने वाले कार्य जल्द ग्राउंड फ्लोर पर दिखाई देंगे। प्रदेश के शहरों में जलापूर्ति सुनिश्चित करने के लिए कार्य प्रगति पर है। इसे प्रभावी बनाने के लिए योजना बनाई गई है। शिमला में गंज बाजार को शहर से बाहर किया जाएगा। इसके साथ ही शहर को बाजार टूटीकंडी बाईपास भेजा जाना प्रस्तावित हुआ है।

कॉमर्शियल परिसर बनाने के लिए बजट में प्रावधान किया

इसके साथ ही मंडी में पार्किंग और कॉमर्शियल परिसर बनाने के लिए बजट में प्रावधान किया गया है। बाजार में संकरापन दूर होगा। शिमला में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट्स जल्द शुरू करने के लिए टेंडर प्रक्रिया के लिए 31 मार्च का लक्ष्य रखा गया है। इसी दौरान टेंडर प्रक्रिया जैसे ही पूरी होगी, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट का काम शुरू किया जाएगा। और बहुत से विकाशील कार्य किये जाते है।

100 crore provision for Himachal Pradesh’s smart city Shimla and Dharamshala