हिमाचल के छात्र संस्कृत की परीक्षा में प्रश्नपत्र की गलतियों से हुए परेशान

student

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने गुरुवार को दसवीं कक्षा के संस्कृत विषय की परीक्षा ली। प्राप्त जानकारी के अनुसार इसके प्रश्न पत्र में काफी गलतियां सामने आई हैं। जिस से बहुत से छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ा। विद्यार्थियों का कहना है, कि प्रश्न पत्र में तीन से चार प्रश्न गलत दिए गए हैं।

जिस बजह से परीक्षा केंद्र में बैठे परीक्षार्थी परेशान रहे। इनका कहना है कि वे भ्रमित होकर प्रश्न को अच्छे से नहीं कर पाए। A सीरीज के प्रश्न नंबर 11 में घड़ी में 10:45 दर्शाए गए हैं और 11:45 का समय पूछा गया है। जिस से छात्र बहुत परेशान रहे।

विकल्पों में स्पष्टता न होने से छात्र हुए भ्रमित

इसी के साथ सीरीज के प्रश्न नंबर 17 के (ग) भाग में उत्तर के लिए दिए गए विकल्पों में स्पष्टता न होने से छात्रों भ्रमित हो गए। इसी के साथ प्रश्न 17 के ही (ङ) भाग में शुद्ध भावार्थ चुनने को कहा गया। लेकिन तीनों सही उत्तर दे दिए गए है। प्रश्न 19 में भूपति शब्द का अर्थ दिने दे दिया।

इसके अतिरिक्त पूरे प्रश्न पत्र में हलंत और विसर्गों की गलतियां भी रहीं है। इसी के साथ बहुत से परीक्षार्थियों ने स्कूल शिक्षा बोर्ड की इस गलती की बजह से अंक बढ़ाने की मांग की।

शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष सुरेश कुमार सोनी ने छात्र हित में फैसला लेने की बात कहि

इसी दौरान राजकीय सीएंडवी अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष चतर सिंह सूर्यवंशी ने बताया कि प्रश्नों में कई खामियां निकली हैं। हिमाचल प्रदेश राजकीय संस्कृत शिक्षक परिषद ने बोर्ड से गुहार लगाई है कि ए सीरीज में तीन, बी सीरीज में एक और सी सीरीज में दो 2 अतिरिक्त अंक दिए जाएं।

शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष सुरेश कुमार सोनी का कहना है कि यह मामला ध्यान में लाया गया है और इस मामले में पूरी जांच की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा की छात्र हित में ही फैसला दिया जाएगा।

Himachal students upset due to question paper mistakes in Sanskrit examination