सभा ने सचिव के भाई की Trading Company में करीब 1 माह में कीं 7 Transaction

online

जिला ऊना के गगरेट दियोली में कृषि सहकारी सभा में विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। Account holders के रोष से आरंभ हुआ विवाद अब होले-होले राजनीतिक रंग पकड़ रहा है। 11 करोड़ 70 लाख रूपये का गबन मामले में अब दियोली सभा के नए खुलासे से सियासी तूफान आ गया है।

किस मद में पैसे किए गए Transfer

दियोली सभा के द्वारा अप्रैल 2018 में जिला भाजपा के जिस बड़े नेता को 2 लाख रूपये चेक से दिए गए, उस नेता का सभा में खाता तक नहीं है। ऐसे में प्रश्न उठता है कि यह पैसे किस मद में Transfer किए गए। इसी सभा ने सचिव के भाई की Trading Company में करीब 1 माह में 7 Transaction कीं। इसमें अलग-अलग दिन में पैसे डाले गए हैं। सभा की एक List जो क्षेत्र में Viral हो रही है, केवल 1 माह की है जो किसी ने Leak कर दी एवं इस List से हड़कंप मच गया। इस सारे मामले पर सत्ता पक्ष जहां Back-foot पर चला गया वहीं पर विपक्ष को एक बड़ा मुद्दा भी मिल गया है।

गबन का मामला विधानसभा सत्र में भी गूंज चुका

गौरतलब है कि इस गबन का मामला विधानसभा सत्र में भी गूंज चुका है। पूर्व विधायक राकेश कालिया के द्वारा भी इस मामले पर चुटकी लेते हुए कहा गया है कि भाजपा में जिस नेता ने भी तरक्की करवानी हो वह हमसे संपर्क करें। चूँकि पहले बेटे का Corruption उजागर किया तो उसे जिला कार्यकारिणी में सम्मान दिया गया, अब उसके पिता के विरुद्ध मामला सामने आया तो पिता को प्रदेश कार्यकारिणी का सदस्य बना दिया गया। यद्पि भाजपा का कोई और सदस्य भी पार्टी में तरक्की चाहता हो तो शीघ्र ही हमसे संपर्क कर सकता है। अभी क्षेत्र में दियोली सभा की List अछि-खासी चर्चा में है। किसी न किसी प्रकार से लोग और कई बड़े खुलासे होने की बातें दबी जुबान से कर रहे हैं।