इमरजेंसी के दौरान जेल में बिताये समय की यादे ताज़ा करने पहुंचे, प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार

shanta kumar

हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने इमरजेंसी के दौरान लगभग 19 महीने नाहन के आदर्श केंद्रीय कारागार में बिताए दिनों की यादें ताजा करने नाहन आ रहे हैं। प्राप्त जानकरी के अनुसार जेल के जिस कमरे में 19 महीने रहकर उन्होंने चार पुस्तकें लिखीं थी वह उसे भी देखेंगे। इस दौरान उनके साथ पूर्व मंत्री श्यामा शर्मा, महेंद्र नाथ सोफत और राधारमण शास्त्री भी होंगे।

शंखनाद संस्था का राज्य स्तरीय नवरंग 2020 कार्यक्रम होगा आयोजित

इसके लिए सरकार की अनुमति भी मिल गई है। 07 मार्च को नाहन में शंखनाद संस्था का राज्य स्तरीय नवरंग 2020 कार्यक्रम आयोजित हो रहा है। इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार इस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे। बताया गया है इसी कार्यक्रम के दौरान शांता कुमार ने आदर्श केंद्रीय कारागार का मुआनीआ करने का भी फैसला किया है।

06 मार्च की शाम को नाहन पहुचंगे पूर्व मंत्री शांता कुमार

प्रदेश के पूर्व मंत्री शांता कुमार 06 मार्च की शाम को नाहन पहुंच जाएंगे। 07 मार्च को सुबह पूर्व मंत्री श्यामा शर्मा के निवास में ब्राह्मण सभा की ओर से अभिनंदन समारोह का आयोजन होगा। इसके बाद में वह नाहन जेल जाएंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि नाहन जेल के कमरे में उन्होंने पूरे 19 महीने गुजारे थे। यही रहकर उन्होंने लाजो, मन के मीत, कैदी और दीवार के उस पार। जैसे तीन पुस्तकें लिखी थी।

पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार के साथ राधारमन शास्त्री, महेंद्र नाथ सोफत

जानकारी के अनुसार जेल के इस कमरे में खूब अध्ययन किया और साथ में उन्होंने यहां योग भी किया। इसके साथ ही पूर्व मंत्री श्यामा शर्मा ने बताया कि इस शांता कुमार के अभिनंदन के लिए कार्यक्रम रखा गया है।

इसे पश्चात पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार, राधारमन शास्त्री, महेंद्र नाथ सोफत और वह स्वयं जेल जाएंगे। वहां गांधी जी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करेंगे। इसके बाद में पूर्व मुख्यमंत्री संस्था के नवरंग कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। और अपनी पुरानी यादे ताज़ा करेंगे।

Former Chief Minister Shanta Kumar arrives to refresh memories of time spent in jail during Emergency