हिमाचल में बाहरी लोगों को रोजगार देने पर, मुख्‍यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष में भारी नोकझोक

vidhan shbha

हिमाचल प्रदेश विधानसभा में मंगलवार को बाहरी लोगों को तृतीय ओर चतुर्थ श्रेणी के पदों की भर्ती में मौका देने पर आधे घंटे तक सदन में बेहद हड़कप मची। विपक्ष के नेता और मुख्यमंत्री में हल्की नोकझोंक भी हुई। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कांग्रेस के विधायक विनय कुमार के मूल प्रश्‍न पर

सदन को जानकारी दी कि तृतीय और चतुर्थ श्रेणी में हिमाचलियों को पूरा रोजगार मिले, यह सुनिश्चित करने का हर संभव प्रयास किया जाएगा की हिमाचल के ही युवा को नौकरी मिलेगी।

लगभग 131 बाहरी लोगों को रोजगार दिया गया है प्रदेश में (विपक्ष )

हिमाचल प्रदेश विधानसभा में मुख्यमंत्री ने कहा पैसे लेकर परीक्षा पास करवाने के मामले में जो मुख्य आरोपित पकड़ा गया है, उसने पूछताछ के दौरान ऐसे ऐसे आरोप स्वीकार लिए हैं। जिसमे हमारी सरकार में लगभग 131 बाहरी लोगों को रोजगार दिया गया है।

इसी दौरान यह बात भी सामने आई की जब कांग्रेस सरकार थी उस समय प्रदेश में 197 बाहरी लोगों को रोजगार दिया गया था। इसमें के दौरान प्रथम श्रेणी औऱ द्वितीय श्रेणी के पदों पर नियुक्ति भी शामिल हैं।

प्रदेश में आउटसोर्स पर भी लोगों को रखा गया है

प्राप्त जानकारी के अनुसार हिमाचल में वर्तमान समय में अब आउटसोर्स पर भी लोगों को रखा गया है। इस मामले को लेकर विपक्ष और माकपा विधायक राकेश सिंघा ने भी सरकार को घेरा और कहा कि नौकरियों को बेचा जा रहा है।

सरकार नोकरियो का धंधा कर रही है। इसी कारण आउट सोर्स पर बाहरी लोगों को रखा जा रहा है। इसी दौरान मुकेश अग्निहोत्री ने यहां तक कहा कि उच्च अधिकारी बाहरी क्षेत्रों से हैं।

वह अपने साथ ऐसे बाहरी लोगों को लगा रहे हैं। जो उन की जान पहचान के है। इस बात को मुख्यमंत्री ने खारिज करते हुए कहा कि इस संबंध में देखा जाएगा कि आउटसोर्स में किन्हें लगाया गया है और हिमाचलियों के हित सुरक्षित रखने की बात कही गयी है। और हिमाचल के ही निवासियों को आउटसोर्स पर रखा गया है।

Chief Minister and Leader in Opposition on Employment to Outsiders in Himachal