प्रदेश में यशवंत सिंह परमार औद्यानिकी व वानिकी विश्वविद्यालय में दी गयी 1104 डिग्रियां

solan

हिमाचल प्रदेश के प्रसिद्ध शिक्षा संस्थान में डा। यशवंत सिंह परमार औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी में गुरुवार को 10वां दीक्षांत समारोह आयोजित किया गया। इस दीक्षांत समारोह में विवि के तीन महाविद्यालय बागबानी,

वानिकी महाविद्यालय और औद्यानिकी एवं वानिकी महाविद्यालय के छात्रों को डिग्री प्रदान की गई। जिसमे विभिन्न विषयो से सबंदित छात्रों ने डिग्रियां प्राप्त की, (BSC), (MSC), (b,tec) बायोटेक्नोलॉजी और पीएचडी की कुल 1104 डिग्रियां प्रदान की गईं।

हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय भी मौजूद रहे

इस दीक्षांत समारोह के दौरान 22 स्वर्ण पदक और 458 सर्टिफिकेट ऑफ मैरिट भी छात्रों को प्रदान किए गए। इसके साथ ही इस समारोह में विद्यार्थियों को यह सम्मान हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल और विश्वविद्यालय के कुलाधिपति बंडारू दत्तात्रेय द्वारा दिया गया।

राज्यपाल हिमाचल प्रदेश बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि किसी भी विश्वविद्यालय के लिए दीक्षांत समारोह एक यादगार पल की तरह होता है। जो कि भविष्य में प्रगति करने और विश्विद्यालय में बिताये अच्छे पलो की याद दिलाता है।

देश का पहला व प्रदेश का एकमात्र बागबानी विश्वविद्यालय

इस समारोह के जरिये छात्र शिक्षा संस्थान में बताये अपने विशेष योगदान का स्मरण को याद कर पाते है। उन्होंने यह भी कहा कि नौणी विवि के देश का पहला व प्रदेश का एकमात्र बागबानी विश्वविद्यालय होने के नाते सभी वैज्ञानिकों व विद्यार्थियों से काफी अपेक्षाएं हैं। उन्होंने यह भी कहा कि भविष्य में सरकारी नौकरी मिलना बहुत मुश्किल है।

और विविषय में बहुत प्रतियोगिताएं है। जिस के लिए हमे तैयार रहना है। इस दीक्षांत समारोह के दौरान नौणी विवि के कुलपति परविंद्र कौशल ने कहा कि यह दिन विश्वविद्यालय के लिए खुशी व गर्व का दिन है। वो इस दिन को कभी नहीं भुला पाएंगे।

1104 degrees awarded in Yashwant Singh Parmar Horticulture and Forestry University in the state