प्रदेश के बागवानों और किसानो को सुनहरा अवसर, अब अब खेतों में पहुंचकर फल और सब्जियां खरीदेंगी नामी कंपनियां

frut

हिमाचल प्रदेश में फैले कोरोना वायरस के खौफ की बजह से किये गए लॉकडाउन में भी हिमाचल के लाखों किसानों-बागवानों को उनकी मेहनत का फल मिलने जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार देश की नामी कंपनियां बिग बास्केट, रिलायंस फ्रेश और सफल घर-द्वार फल और सब्जियां खरीदने जा रही हैं।

इन कंपनियों ने प्रदेश से ढाई सौ मीट्रिक टन चेरी की खरीद को भी हामी भर दी है। बागवानों को बड़ी मंडियों में फसल ले जाने के बजाय घर के नजदीक ही अच्छे दाम मिलेंगे। इस पहल से बिचौलियों भी उन्हें नहीं लूट पाएंगे। जिस कारण हिमाचल के किसानो को उनकी मेहनत के अच्छे धाम मिल पाएंगे।

बागवानों को मिली बड़ी राहत

प्रदेश में किसानों- बागवानों को लॉकडाउन के कारण फसलें बेचने में खासी परेशानी हो रही है। ऐसे में हिमाचल प्रदेश सरकार ने बड़ी कंपनियों को तैयार फसलें गांवों में ही खरीदने को राजी कर लिया है। इसी के साथ बागवानों से मौके पर ही फसलें खरीदकर रेफ्रिजरेटर वैनों से दूसरे राज्यों में ले जाया जाएगा। फसल का भुगतान भी तत्काल कर दिया जाएगा। जिस से किसानो को बेहद लाभ मिल पायेगा। बिग बास्केट कंपनी कोटगढ़ क्षेत्र में पहले चरण से चेरी खरीदेगी।

विभिन्न प्रकार के फल और सब्जिया ख़रीदेगी नामी कंपनिया

इस बेल्ट के आसपास हर साल करीब तीन हजार मीट्रिक टन गुठलीदार फलों की पैदावार होती है। इनमें बादाम, आड़ू, पलम, खुमानी और चेरी शामिल है। इसी के आठ गो फॉर फ्रेश कंपनी से भी किसानों और बागवानों की फसलें खरीदने के लिए बातचीत अंतिम चरण में है। सफल कंपनी भी किसानों की फसलें खरीदने को राजी है। यह कंपनी सोलन में खरीद केंद्र खोलेगी और यहां पर किसानों से मटर, टमाटर सहित अन्य फसलें खरीदेगी। इस से हिमाचल प्रदेश के किसानो को बहुत से लाभ मिल पाएंगे।

बिचौलियों से रहत

प्रदेश में बिग बास्केट ने चेरी की खरीद शीघ्र शुरू कर रही है। अन्य कंपनियां रिलायंस फ्रेश और सफल भी बागवानों-किसानों की फसलें खरीदने आ रही हैं। गो फॉर फ्रेश भी राजी है। अब किसानों को दिल्ली या बाहरी मंडियों में उत्पाद ले जाने की जरूरत कम ही पड़ेगी।

Golden opportunity to the gardeners and farmers of the state, now the companies will reach the fields and buy fruits and vegetables