हिमाचल प्रदेश के जिला बिलासपुर में बंद पड़ा एम्स का निर्माण कार्य फिर हुआ शुरू

हिमाचल प्रदेश के जिला बिलासपुर के कोठीपुरा में बन रहे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) का लंबित निर्माण कार्य को फिर शुरू हो गया है। प्रदेश में फैले कोरोना की वैश्विक महामारी की रोकथाम को लागू लॉकडाउन के चलते संस्थान में निर्माण कार्य महीने भर से बंद था। प्राप्त जानकारी के अनुसार अब जिला प्रशासन ने कड़ी शर्तों के साथ एजेंसी को निर्माण कार्य शुरू करने की मंजूरी दे दी है। निर्माण कार्य के दौरान 70 फीसदी से भी कम लोग ही मौके पर काम कर पाएंगे। इसी के साथ प्रदेश भर में और भी महत्वपूर्ण कार्य सरकार द्वारा किये जा है।

एम्स की ओपीडी के लिए अभी इंतजार करना होगा

इसी के साथ काम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग, सरकार की गाइड लाइन और सैनिटाइजेशन का सख्ती से पालन करना होगा। जानकारी के अनुसार निर्माण कार्य शुरू होने के बावजूद एम्स की ओपीडी के लिए अभी इंतजार करना होगा। उल्लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश के तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने अक्तूबर 2019 में एम्स की ओपीडी शुरू करने का दावा किया था। लेकिन भवन का निर्माण पूरा नहीं हो पाया। इस पर ओपीडी शुरू करने का लक्ष्य जनवरी 2020 में निर्धारित किया गया।

कोरोना लॉकडाउन ने एम्स के निर्माण कार्य को प्रभावित किया

इसी के साथ यह लक्ष्य पूरा होता की निर्माणाधीन ओपीडी भवन के पास डंगा गिर जाने और अन्य कार्य पूरा न होने के कारण यह मामला मार्च या अप्रैल तक के लिए लटक गया था। अब कोरोना लॉकडाउन ने एम्स के निर्माण कार्य को प्रभावित किया है। इसी के साथ करीब एक महीने से कार्य पूरी तरह से ठप था। ऐसे में एम्स की ओपीडी जल्द शुरू होने के आसार नहीं है।

सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करनी होगी

जानकारी के अनुसार कड़ी शर्तों के साथ एम्स निर्माण कार्य शुरू करने के लिए अनुमति दी गई है। प्रदेश के इस एम्स निर्माण कार्य के दौरान मौके पर सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करनी होगी। इसी के साथ कार्य कैसे किया जा रहा है उसकी पूरी मॉनिटरिंग होगी। स्वास्थ्य विभाग की गाइड लाइन का सख्ती से पालन करना होगा। अगर गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया तो काम रोक दिया जाएगा।

Construction of AIIMS closed in Himachal Pradesh’s district Bilaspur resumed

Related Posts