हिमाचल प्रदेश में इस बार मटर की पैदावार तीस फीसदी अधिक, किसानो को मिलेगा लाभ

matr

देवभूमि नाम से विख्यात हिमाचल प्रदेश में इस बार मटर की बंपर फसल हुई है। पिछले साल के मुकाबले इस साल हिमाचल प्रदेश के किसानों ने तीस फीसदी ज्यादा फसल तैयार की है। इस बार प्रदेश में करीब 2,5 लाख मीट्रिक टन मटर की पैदावार का अनुमान है। प्रदेश में लॉकडाउन और कर्फ्यू के कारण किसानों को सब्जी मंडियों तक फसल को पहुंचाने में परेशानी हो रही थी।

लेकिन अब प्रदेश सरकार ने सूबे की फल मंडियों में सब्जी बेचने की व्यवस्था कर दी है। इससे किसानों को बड़ी राहत मिली है। इस पैदावार से हिमाचल के किसानो को बेहतर लाभ मिल पायेगा। और किसानो को मेहन्नत का फल मिल पायेगा।

नामी कम्पनिया करेगी खरीदारी

नामी कम्पनिया बिग बास्केट और रिलायंस जैसी कंपनियां भी खेतों तक पहुंचकर किसानों की तैयार फसल खरीद रही हैं। हिमाचल प्रदेश की मंडियों में वर्तमान में मटर 30 से 35 रुपये किलो बिक रहा है। इसी के साथ किसान मटर की बिक्री के लिए बड़ी कंपनियों को आमंत्रित करने के लिए दबाव डाल रहे थे।

इस कारण से मटर खरीद के लिए बड़ी कंपनी सफल और रिलायंस फ्रेश भी हिमाचल प्रदेश में खरीद केंद्र खोल रही हैं। जिस से वो प्रदेश की फसलों का लाभ ले पायेगे।

मटर की पैदावार 2,5 लाख मीट्रिक टन

इसी के साथ राज्य कृषि विपणन बोर्ड के प्रबंध निदेशक नरेश ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में मटर की पैदावार 2,5 लाख मीट्रिक टन होने की उम्मीद है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले साल के मुकाबले मटर की पैदावार 35 फीसदी अधिक है। मटर उत्पादकों फसल बेचने में परेशानी न हो।

इसके लिए बोर्ड ने सफल और रिलायंस कंपनी को बुला लिया है। ये कंपनियां जल्द खरीद शुरू कर देंगी। जिस से हिमाचल के किसानो को बहुत लाभ मिल पाएंगे।