कोरोना महामारी से बचने के लिए सतर्कता की जरूरत, अभी तक हिमाचल में 89,293 लोगो को रखा गया होम क्वारंटाइन में

jairam CM himachal

हिमाचल प्रदेश में अब 3,627 लोग संस्थागत है। जबकि 89,293 लोगो को होम क्वारंटाइन में रखा गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि क्वारंटाइन में जो लोग हैं, उन्हें सख्ती के साथ नियमों की अनुपालना करनी चाहि। ताकि उनके साथ-साथ समाज को भी सुरक्षित रखा जा सके। तथा इन्हे नियमो का पालन करना चाहिए।

कोविड रिलीफ फंड में योगदान देकर सरकार की मदद करे

मुख्यमंत्री ने भाजपा कार्यकर्ताओं को भी कोविड से चल रही जंग में अहम योगदान देने के लिए कहा है। इसी के साथ उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता जहां लोगों को जागरूक करने का काम कर सकते हैं। वहीं कोविड रिलीफ फंड में योगदान देकर सरकार की मदद कर सकते हैं। जिस से प्रदेश में कोरोना की लड़ाई के लिए विभिन्न कार्य किये जाएंगे।

नियमों का उल्लंघन करने वालो की जानकारी जिला प्रशासन को दे

इसी के साथ मुख्यमंत्री ने इस महामारी के दौरान लोगों की सहायता के लिए पीएम केयर्स और कोविड फंड में उदारतापूर्वक अंशदान करने को भी कहा। जयराम ठाकुर ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता अन्य लोगों को भी इस फंड में उदारतापूर्वक अंशदान करने के लिए प्रेरित करें तभी उन्होंने कार्यकर्ताओं से यह भी सुनिश्चित करने को कहा कि यदि कोई होम क्वारंटाइन के नियमों का उल्लंघन बार-बार करता है।

बीमारी से जुड़ी सामाजिक बुराई के बारे में भी लोगों को शिक्षित करे

तो वे उस व्यक्ति को जिला प्रशासन के ध्यान में लाएं, ताकि उल्लंघन करने वाले को संस्थागत क्वारंटाइन में स्थानांतरित किया जा सके। साथ ही उन्होंने इस बीमारी से जुड़ी सामाजिक बुराई के बारे में भी लोगों को शिक्षित किया जाना चाहिए। जिस से प्रदेश के लोग जागरूक होंगे तथा इस बीमारी से लड़ने और अपने आप को इस से बचा के रखेंगे।

इस बीमारी से बचने के लिए केवल सतर्कता की जरूरत है।

इस कोरोना बीमारी से बचाव के लिए केवल सामाजिक दूरी बनाए रखने की जरूरत है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से राज्य में फंसे प्रवासी मजदूरों को भोजन और आश्रय देने के लिए भी आगे आने का आग्रह किया। साथ ही सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व और उनके द्वारा समय पर लिए गए निर्णयों

के कारण ही आज देश की स्थिति विकसित देशों से कहीं बेहतर है साथ ही हिमाचल प्रदेश की स्थिति अधिकतर पड़ोसी राज्यों से बेहतर है। इस बीमारी से बचने के लिए केवल सतर्कता की जरूरत है।

Vigilance needed to avoid this corona epidemic in the state, so far 89,293 people have been kept in Himachal in quarantine

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *