प्रदेश के लिए बड़ी खबर एक सप्ताह में बहाल हो जाएगा मनाली-लेह मार्ग, भारतीय सेना को मिली राहत

हिमाचल प्रदेश में सामरिक महत्व वाला करीब 1,100 किलोमीटर लंबा मनाली-लेह मार्ग जल्द यातायात के लिए बहाल होने जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार इसके लिए करीब एक हफ्ते का समय लग सकता है। इस वर्ष कोविड-19 के चलते सैलानियों की आवाजाही नहीं हो रही है। लेकिन हालात सामान्य होने पर पर्यटक इस मार्ग के सुहाने सफर का आनंद उठा पाएंगे। हर साल हजारो की संख्या में सैलानी यहां गुमने के लिए आते है। इसी लिए बीआरओ कड़ी मशक्कत के बाद मनाली-लेह मार्ग की बहाली के नजदीक पहुंच गया है।

हिमांक परियोजना ने सरचू तक सड़क को बहाल कर दिया गया है

बीआरओ की लेह स्थित हिमांक परियोजना ने सरचू तक सड़क को पहले ही बहाल कर दिया गया है। मनाली स्थित दीपक परियोजना के जवान दोनों तरफ से बारालाचा दर्रे से बर्फ हटाने में जुटे हैं। इसी के साथ जल्द ही यह रास्ता यातायात के लिए खोल दिया जायेगा।

रोहतांग दर्रे, लाचुंगला दर्रा, तांगलांगला दर्रे के कर पाएंगे पर्टयक दीदार

इसी दौरान मार्ग के खुलने से सीमा पर तैनात सुरक्षा बलों तक पहुंचना आसान हो जाएगा। जानकारी के अनुसार मनाली पहुंचते ही सैलानी सबसे पहले 13,050 फीट ऊंचे रोहतांग दर्रे का दीदार कर सकेंगे। यहां से 16,000 फीट ऊंचे बारालाचा दर्रे का दीदार हो सकेगा। इसके साथ ही 16,500 फीट ऊंचा लाचुंगला दर्रा को पार करते हुए लेह की वादियों में प्रवेश करने के बाद दुनिया के खूबसूरत साढे़ 17 हजार फीट तांगलांगला दर्रे को देख पाएंगे।

बीआरओ के कमांडर कर्नल उमा शंकर ने दी जानकारी

जानकारी के अनुसार बीआरओ के कमांडर कर्नल उमा शंकर ने बताया कि इस बार उन्होंने बारालाचा दर्रे पर दोनों ओर से चढ़ाई की है। इसी दौरान उन्होंने यह भी कहा कि यदि मौसम ने साथ दिया तो एक सप्ताह के भीतर यह मार्ग यातायात के लिए बहाल कर लिया जाएगा। जिस से प्रदेशवासियों के साथ भारतीय सेना को भी लाभ मिल पाएंगे।

Big news for the state, Manali-Leh road will be restored in a week, Indian army gets relief

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *