सरकार का बड़ा फैसला निजी स्कूल अब ट्यूशन फीस के साथ एनुअल चार्जिस ही वसूल सकेंगे, मुक्यमंत्री जयराम ठाकुर ने लिया फैसला

हिमाचल प्रदेश में स्तिथ अब निजी स्कूल अब ट्यूशन फीस के साथ केवल एनुअल चार्जिस वसूल सकेंगे। इसी के साथ निजी स्कूलों के दबाव में आकर हिमाचल प्रदेश सरकार ने अभिभावकों की फीस कम करने की मांग को लेकर प्रस्ताव में बदलाव कर दिया है। इससे पहले अभिभावकों से सिर्फ ट्यूशन फीस ही लेने की योजना थी। हाल ही में हुई कैबिनेट बैठक में यह प्रस्ताव गया था।

निजी स्कूलों द्वारा मुख्यमंत्री के समक्ष अपनी मांगें रखने के चलते सरकार ने प्रस्ताव में बदलाव किये

लेकिन निजी स्कूलों द्वारा मुख्यमंत्री के समक्ष अपनी मांगें रखने के चलते सरकार ने प्रस्ताव बदल दिया। इसी के साथ संभावित है कि एक-दो दिन के भीतर इस बाबत अधिसूचना जारी हो जाएगी। जिस से निजी स्कूल छात्रों से केवल ट्यूशन फीस के साथ एनुअल चार्जिस ही वसूल सकेंगे।

नया सत्र शुरू होने के 10 दिनों के भीतर ही हिमाचल प्रदेश में 15 मार्च से स्कूल बंद

जानकारी के अनुसार मार्च के पहले सप्ताह में प्रदेश के निजी स्कूलों में शैक्षणिक सत्र शुरू हुआ था। इसी साथ नया सत्र शुरू होने के 10 दिनों के भीतर ही हिमाचल प्रदेश में 15 मार्च से स्कूल बंद हैं। प्रदेश में विभिन्न सामाजिक संगठनों ने सरकार को मांग पत्र सौंप मार्च से मई तक की फीस कम करने की मांग की थी। इसी लिए प्रदेश सरकार ने शिक्षा विभाग को इस बाबत प्रस्ताव बनाने को कहा था। इसी लिए विभागीय अधिकारियों ने बीते दिनों सरकार को प्रस्ताव भेज कर मार्च से मई तक सिर्फ ट्यूशन फीस ली लेने की सिफारिश की थी।

शिक्षा विभाग की ओर से संशोधित प्रस्ताव भी सरकार को भेजा

लेकिंन अब शुक्रवार को शिक्षा विभाग की ओर से संशोधित प्रस्ताव भी सरकार को भेज दिया गया है, जिसमें स्पोर्ट्स फंड, कंप्यूटर फीस और एसएमएस फीस न लेने का प्रस्ताव दिया है। सरकार ने इस प्रस्ताव पर विचार करते हुए यह निर्धारित किया है। ताकि निजी स्कूलों को भी ज्यादा घाटा ना पड़े तथा स्कूलों की आर्थिक स्तिथि भी बनी रहे।

Government’s big decision Private schools will now be able to recover annual charges along with tuition fees, Chief Minister Jairam Thakur took the decision

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *