स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्टाचार के मामले को लेकर बोले हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार, जानिए पूरी जानकारी

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्टाचार का मामला बहुत ही शर्मनाक है। प्राप्त जानकारी के अनुसार उन्होंने कहा की पूरा देश कोरोना से लड़ रहा है। हिमाचल प्रदेश और देश में भी रोगियों की संख्या प्रतिदिन बढ़ रही है। उसका मुकाबला करने के लिए एक मनरेगा मजदूर विद्या देवी पांच हजार रुपए योगदान करती है। और दूसरी तरफ उस पैसे से कोरोना उपचार की सामग्री खरीदने में एक अधिकारी भ्रष्टाचार करता है।

यह सुन कर ही दिल दहल जाता है-शर्म से सिर झुक जाता है। इसी के साथ उन्होंने कहा की कफन तक भी चुराने वाले इस प्रकार की मनोवृति वाले लोग मनुष्य शरीर में कैसे आते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि पूरा प्रदेश आहत है।

विपक्ष के नेताओं से किया आग्रह इसमें राजनीति न करें

हिमाचल प्रदेश में हुए इस कारनामे की सोशल मीडिया और अखबारों में बहुत चर्चा हो रही है। उन्होंने विपक्ष के नेताओं से आग्रह किया है कि इसमें राजनीति न करें। हिमाचल प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पूरी जांच करके न्याय दिलवाएंगे। इसी के साथ उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से आग्रह किया है कि यदि वे उचित समझे तो कुछ प्रमुख योग्य और ईमानदार अधिकारियों की एक संयुक्त जांच समिति नियुक्त करके अति शीघ्र दोषियों को सजा दिलाएं।

भ्रष्टाचार का यह समाचार हिमाचल प्रदेश को कलंकित कर देगा (पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार)

साथ ही उन्होंने विश्वविद्यालयों की डिग्रियां बेचने के अपराध से ही हिमाचल प्रदेश बदनाम हो चुका है। अब कोरोना उपचार सामग्री खरीद में भी भ्रष्टाचार का यह समाचार हिमाचल प्रदेश को कलंकित कर देगा। इसी दौरान उन्होंने कहा की उन्हें विश्वास है कि मुख्यमंत्री अतिशीघ्र इस संबंध में उचित कार्रवाई करवाएंगे। तथा इस मामले की अच्छे से जांच करवा कर आरोपियों को कड़ी सज़ा दिलवाएंगे।

Former Himachal Pradesh Chief Minister Shanta Kumar speaks about corruption case in Health Department, know full information

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *