प्रदेश में फिर से डिपुओं में फिंगर प्रिंट से मिलेगा राशन, कोरोना के चलते लोगो ने किया जमकर विरोध

himachal pradesh (2)

हिमाचल प्रदेश में फिर से फिंगर प्रिंट से मिलेगा राशन, प्रदेश में कोरोना संक्रमण का खतरा अभी टला भी नहीं और हिमाचल प्रदेश सरकार ने राशनकार्ड धारकों को डिपुओं में फिर बायोमीट्रिक मशीनों से सस्ता राशन देने के आदेश जारी कर दिए। प्रदेश सरकार ने मशीनों को अपडेट कर दिया है। जानकारी के अनुसार हर बार अंगूठा लगाने के बाद मशीन सैनिटाइज करनी होगी। इसी के साथ डिपो में साबुन और पानी की व्यवस्था भी होगी।

डिपुओं में साबुन और पानी की जायेगी व्यवस्था

ताकि हर उपभोक्ता आते और जाते समय हाथ धो सके। इसके अलावा राशन लेने आये लोगो को सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करना होगा। इसी के साथ प्रदेश सरकार ने इस बारे में जिला खाद्य नियंत्रक अधिकारियों को आदेश कर दिए हैं। तथा जल्द ही इस प्रक्रिया को दुबारा से शुरू किया जाएगा।

डिपो संचालक समिति ने किया विरोध

इसी के साथ हिमाचल में सरकार के इस निर्णय से लोग और डिपो संचालक समिति इसका जमकर विरोध भी कर रहे है। हिमाचल प्रदेश में कोरोना की शुरुआत में सरकार ने पॉस मशीनों में फिंगर प्रिंट से राशन लेने की प्रक्रिया बंद कर दी थी। जिसके दौरान उपभोक्ताओं को सस्ता राशन क्यूआर कोड से दिया जा रहा था। इस क्यूआर कोड से राशन में गड़बड़ी की आशंका बनी रहती थी।

इस निर्णय से बायोमीट्रिक तरीके से कहीं भी सस्ता राशन ले सकेंगे

इसी लिए अब करीब डेढ़ माह बाद सरकार ने फिर पुराना नियम लागू किया है। इस लिए अब लोग बायोमीट्रिक तरीके से कहीं भी सस्ता राशन ले सकेंगे। हिमाचल सरकार का यह भी मानना है कि केंद्र के निर्देशों पर प्रदेश में यह व्यवस्था लागू की है। देश के 18 राज्यों में पॉस मशीन से राशन दिया जा रहा है। इसी लिए सरकार ने प्रदेश में पुराणी निति को अपनाया है।

कोरोना खत्म होने तक नहीं होनी चाहिए यह निति लागू

सरकार ने हिमाचल में कोरोना की बजह से डिपुओं में बायोमीट्रिक सिस्टम बंद कर दिया था। जिस बजह से इंटर स्टेट पोर्टेबिलिटी सुविधा से लोगों को राशन नहीं मिल रहा था। ऐसे में यह व्यवस्था फिर से लागू की गयी है। हालांकि कई जगह लोगों ने इससे असहमति और रोष जाहिर करते हुए सरकार से इस आदेश को वापस लेने की मांग की है। इसी दौरान हिमाचल प्रदेश डिपो संचालक समिति के राज्य उपाध्यक्ष व जिला अध्यक्ष मुकेश शर्मा ने कहा कि इस महामारी के चलते बायोमीट्रिक प्रणाली को शुरू करना सही निर्णय नहीं है।

जानकारी के अनुसार लोगो के कहना है की सरकार इस निर्णय को बदले और जब तक कोरोना का खतरा खत्म नहीं होता तब तक व्यवस्था शुरू न की जाए। लोगो ने सरकार के इस निर्णय पर जमकर विरोध कर रहे है।

Finger prints will be rationed in depots again in the state, due to Corona people protested fiercely

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *