हिमाचल की वादियों में अब 72 दिनों बाद दौड़ेंगी परिवहन विभाग की बसे, इन-इन जिले में चलेंगे इतनी बसे, जानिए पूरी जानकारी

हिमाचल प्रदेश में अब 72 दिनों के इंतजार के बाद एक जून से सशर्त बसें चलना शुरू हो जाएंगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार सरकार ने इसकी अधिसूचना भी जारी कर दी है। इसी के साथ अधिसूचना के अनुसार कुल्लू और बिलासपुर में अपने ही जिलों में बसें चलेंगी जबकि अन्य जिलों में प्रदेश भर में बसें दौड़ेंगी। जानकारी के अनुसार 12 घंटे के बाद के रूटों पर बसें नहीं चलेंगी। ये बसें सुबह सात से शाम सात बजे तक ही चलेंगी। इसी के साथ बसों के साथ प्रदेश में टैक्सी चालकों को भी बड़ी राहत मिली है।

01 जून से टैक्सी, ऑटो और निजी वाहन भी चलाए जाएंगे प्रदेश में

जानकारी के अनुसार एक जून से टैक्सी, ऑटो और निजी वाहन भी चलाए जाएंगे। इसी के साथ यह जानकारी परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर ने आरएम और अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस करके पुख्ता इंतजाम के निर्देश भी दिए हैं। साथ ही कल से हिमाचल प्रदेश में (HRTC) अपने सेवाएं देगा।

कुल्लू और बिलासपुर जिलों के लांग रूटों पर नहीं चलेंगी परिवहन विभाग की बसें

जानकारी के अनुसार प्रदेश के जिला कुल्लू, बिलासपुर जिलों के लांग रूटों पर बसें नहीं चल सकेंगी। जिस का कारण यहां फैले कोरोना के मामले है। ये बसें शाम सात बजे से पहले अपने गंतव्य तक नहीं पहुंच सकेंगी। इसी के साथ जिला सिरमौर के वाया चंडीगढ़ रूट बंद रहेंगे।इसी के साथ पठानकोट जाने वाली बसें जसूर में रुकेंगी। इसके अलावा पंचायत प्रधानों पर चालक-परिचालक को ठहराने का जिम्मा होगा।

चालक-परिचालकों को किया गया ड्यूटी के लिए रवाना

साथ ही परिवहन निगम ने चालक-परिचालकों को ड्यूटी के लिए रवाना कर दिया है। इसी के साथ शनिवार से बसों की सैनिटाइजेशन शुरू कर दी है। हिमाचल पथ परिवहन निगम के पास 3,300 बसें हैं जबकि निजी 3,100 बसें हैं। इनमें 70 फीसदी बसें ही चलेंगी।

केवल 60 फीसदी ऑक्यूपेंसी के साथ चलेंगी परिवहन विभाग की बसे

इन बसों में सामाजकि दूरी और भीड़ से बचने के लिए केवल 60 फीसदी ऑक्यूपेंसी सुनिश्चित करनी होगी। इसी के साथ सभी यात्रियों को मास्क पहनना जरूरी है। इसी के साथ बसों को रूटों पर भेजने से पहले सुबह या शाम को सैनिटाइज करना होगा। साथ ही बसों में खड़े होकर यात्रा करने पर मनाही होगी। जानकारी के अनुसार चालक और परिचालक के पास हैंड सैनिटाइजर उपलब्ध होना जरूरी है। बस अड्डों में शौचालयों में साबुन मशीन जरूरी है। जिस से कोरोना महामारी से बच्चा जा सके।

जिला कांगड़ा में 350 परिवहन की बसें दौड़ेंगी

इसी के साथ हिमाचल के जिला कांगड़ा में 350 सरकारी बसें दौड़ेंगी इसी के साथ हर डिपो से चलेंगी 50 से 60 बसें, पठानकोट रूट वाली बसें जसूर तक जाएंगी। तथा व्ही से यह बसे लौटेंगी इसी के साथ राजधानी शिमला में 106 निजी और 200 सरकारी बसें शिमला शहर और जिले में चलेंगी।

जिला कुल्लू और मंडी में चलेंगे यह बसे

देव भूमि कुल्लू जिले में 40 सरकारी और 50 निजी बसें ही चलेंगी, इसी जिले के बाहर कोई बस नहीं जाएगी। केवल जिला कुल्लू में ही यह बसे चलेंगी। इसी के साथ छोटी काशी मंडी जिले से शिमला और कुल्लू जिले सहित लोकल रूटों पर 50 फीसदी बसें दौडे़ंगी। मंडी जिले में निजी बसें नहीं चलेंगी इसी के साथ जिला ऊना से पूरे प्रदेश में 50 फीसदी रूटों पर ही चलेंगी हिमाचल निगम की बसें। इस जिले में निजी बसें न के बराबर चलेंगी।

जिला बिलासपुर और सिरमौर में दौड़ेंगी यह बसे

प्राप्त जानकारी के अनुसार बिलासपुर जिले में ही 60 फीसदी सवारियों के साथ बसें दौड़ेंगी। इसी के साथ हालात सामान्य होने पर ही जिले से बाहर बसें चलेंगी इसी के साथ जिला सिरमौर में सौ रूटों पर परिवहन निगम की 60 फीसदी बसें चलेंगी। इसी के साथ यहां से शिमला और सोलन को भी बसें जाएंगी इसी के साथ जिला हमीरपुर के 47 लोकल और 6 अंतर जिला रूटों पर बस सेवा जनता को मिल पाएगी। राजधानी शिमला में रूट पर एक बस मंडी रूट पर दो बसें, पालमपुर, बद्दी और धर्मपुर रूट पर 1-1 बस चलेगी।

जिला चम्बा और शिमला में चलेंगी यह बसे

इसी के साथ चम्बा जिले में 45 रूटों पर चलेंगी परिवहन की 52 बसें। इसी के साथ राजधानी शिमला के लिए एक ही बस चलेगी। जिला सोलन के निगम की एक जून से चलने वाली बसों को जिला और अन्य जिलों के लिए मांग के अनुसार चलाया जाएगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में 200 रूटों पर 100 बसें चलेंगी। इसी के साथ हिमाचल के जिला लाहौल-स्पीति में 30 बसें जिले के भीतर और चंबा के पांगी और कुल्लू जिले के लिए चलेंगी।

सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखा जाएगा इन बसों में

हिमाचल के जिला किन्नौर के डीसी गोपाल चंद ने बताया कि एक जून से जिले के सभी रूटों पर सरकारी और निजी बसें चलाई जाएंगी। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखा जाएगा। साथ ही जनता को मास्क लगाना भी अनिवार्य होगा।

In Himachal’s plaintiffs, now the transportation department will run after 72 days, in-in district will run so settled, know the full information

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *