मंडी में हिमकेयर योजना में बड़ा घपला, एपीएल का शुल्क लेकर बीपीएल के बना दिए कार्ड

himachal pradesh

हिमाचल प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी हेल्थ केयर स्कीम हिमकेयर में घपला हो गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार योजना का कार्ड बनाने के लिए एपीएल परिवारों से सालाना 1,000 रुपये शुल्क ले लिया जबकि रिकॉर्ड में इन्हें बीपीएल का बताया गया है। प्रदेश के जिला मंडी में हुई प्राथमिक जांच में ऐसे 11 मामले सामने आये हैं। प्रदेश पुलिस अब फर्जीवाड़े के मास्टरमाइंड को ढूंढ रही है। इसी के साथ प्रदेश में लाखों लोगों ने हिमकेयर कार्ड बनाए हैं। इसी लिए मुताबिक जांच में यह घपला लाखों का हो सकता है।

शक की सूई आउटसोर्स की गई एजेंसी के कुछ कर्मचारियों पर और घूम रही, लोकमित्र केंद्र भी जांच के दायरे में

पुलिस की शक की सूई आउटसोर्स की गई एजेंसी के कुछ कर्मचारियों पर घूम रही है। इसी इसी के साथ वहीं कुछ लोकमित्र केंद्र भी जांच के दायरे में हैं। जैसे ही राजधानी शिमला स्थित स्वास्थ्य विभाग की एजेंसी के सामने ये मामले आए, इसकी सूचना एसपी मंडी को दी गई। जानकारी के अनुसार प्रारंभिक जांच में 11 मामले पकड़े गए हैं। यह भी जांचा जा रहा है कि और कितने परिवारों ने नाम पर शातिर पैसे का गोलमाल कर गए हैं।

इसी लिए पुलिस को कई अहम साक्ष्य हाथ में लगे हैं। साथ ही पुलिस का दावा है कि जल्द ही शातिरों को ढूंढ निकाला जाएगा और इस मामले की जांच मुख्य आरक्षी संजीव कुमार कर रहे हैं। उनका कहना है किजल्द ही आरोपी को हिरासत में ले लिया जाएगा।

प्रारंभिक जांच में 11 मामले सामने आए

प्राप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। इसी के तहत प्रारंभिक जांच में 11 मामले सामने आए हैं। हर पहलू को ध्यान में रखकर जांच की जा रही है। साथ ही मंडी के एसपी गुरदेव शर्मा ने बताया की कार्ड बनाने के लिए बीपीएल का नहीं लगता शुल्क राज्य सरकार ने हिमकेयर योजना को लागू किया है। इसमें प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक का कैशलेस उपचार कवरेज पात्र परिवारों को अस्पताल में भर्ती होने पर किया जाता है।

(बीपीएल) परिवारों, मनरेगा श्रमिकों और पंजीकृत स्ट्रीट वेंडर्स से कोई शुल्क नहीं लिया जाता

इसी के तहत गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) परिवारों, मनरेगा श्रमिकों और पंजीकृत स्ट्रीट वेंडर्स से कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। इस लिए इस कार्ड का लाभ गरीब परिवार के सदस्य ले पाते है। ऐसे में इस मामले के सामने आने से लोगो में अशांति का माहौल है।

There were 11 such cases in primary investigation conducted in Mandi by making a big scandal in Himcare scheme in the state, cards made by BPL after charging APL

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *