प्रदेश में क्लफ्यू के दौरान बंद किये शराब ठेके -अब खुलने से पहले चैक होगा स्टॉक

himachal pradesh

हिमाचल प्रदेश सरकार ने कोरोना महामारी के दौरान फिलहाल तो शराब के ठेके प्रदेश में बंद रखे हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार शराब ठेके खुलने के साथ ही उनके स्टॉक की भी चैकिंग की जाएगी। अभी इस पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है। कि ये शराब ठेके कब से खुलेंगे, मगर यह तय है कि जैसे ही इनको खोलने के आदेश होंगे, इनकी चैकिंग का दौर शुरू हो जाएगा। इस संबंध में विभाग को स्पष्ट निर्देश जारी हो चुके हैं। प्रदेश में जैसे ही 23 मार्च को लॉकडाउन हुआ तभी से अचानक से शराब ठेकों को भी बंद कर दिया गया था।

आबकारी एवं कराधान विभाग द्वारा किया जाएगा शराब ठेकों का स्टॉक चैक

जानकारी के अनुसार आबकारी एवं कराधान विभाग को इन शराब ठेकों का स्टॉक चैक करने का मौका ही नहीं मिल पाया। प्रदेश पुलिस ने कर्फ्यू के दौरान शराब ठेकों को तुरंत बंद करवाया और यहां तक कि शराब ठेके में कर्मचारियों को भी नहीं रहने दिया गया। मगर फिर भी प्रदेश में भारी मात्रा में शराब बिकी, जिसे अवैध शराब का नाम दिया जा रहा है।

अब यह शराब अवैध रूप से कहीं बाहर से लाई गई या फिर शराब ठेकों से ही गई, इसकि अभी तक कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल पाई है। कोई पता नहीं है। इसे चैक करने के लिए आबकारी महकमा फील्ड में उतरेगा। इनकी नजर सबसे पहले होलसेल करने वाले व्यपारियो पर रहेगी।

हॉलसेलर और शराब ठेकेदारों पर मंडरा रहा खतरा, देना होगा जबाब

यह होलसेलर आगे ठेकेदारों को शराब की सप्लाई करते हैं। वहां से कितनी शराब आगे गई है, इसे चैक करना होगा, क्योंकि इसका रिकार्ड भी महकमा नहीं ले पाया है। इस रिकार्ड से काफी कुछ सामने आ सकेगा।

वहीं शराब ठेकेदार, जिसके पास एक महीने का एडवांस स्टॉक पड़ा होता है, उसे भी विभाग को माकूल जवाब देना होगा। बता दें कि यदि शराब ठेकेदार ने भी शराब बेच दी है और वह यह बोले कि 23 मार्च को ही उसका स्टॉक खत्म हो गया था।

शराब उत्पादन बंद होने से रोजाना पांच करोड़ रुपए का नुकसान

ऐसे में उन व्यपारियो पर खतरा मंडरा रहा है जो शराब बेच रहे हैं। प्रदेश में शराब का कारोबार महत्त्वपूर्ण है, क्योंकि इससे सरकार की आर्थिकी जुड़ी है। रोजाना पांच करोड़ रुपए का नुकसान इस कारोबार के बंद होने से सरकार को नुकसान उठाना पड़ रहा है। इन दिनों डिस्टिलरी में भी सेनेटाइजर बनाने का ही काम किया जा रहा है। जहां पर शराब का उत्पादन पूरी तरह से बंद कर दिया गया है।

Liquor contracts closed during clufe in the state – now stock will be checked before opening

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *