कंटेनमेंट जोन में रह रहे लोग कर रहे शराब, मीट और सिगरेट की डिमांड, कर्मचारी परेशान

himachal pradesh

हिमाचल प्रदेश और देश भर में करीब डेढ़ माह से लगे लॉकडाउन और उसके बाद कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोग आजकल कंट्रोल रूम में फोन कर अजीबोगरीब डिमांड कर रहे हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार पांवटा साहिब के कंट्रोल रूम में रह रहे लोग दूध, सब्जी, दवाई या राशन के बजाय शराब, मीट, पान-मसाला और सिगरेट की डिमांड कर रहे हैं। ऐसे फोन आने से अधिकारी परेशानी में हैं। अधिकारीयो द्वारा लोगो को समझाया जा रहा है की ऐसी चिजे उपलब्ध नहीं हो पाएंगी।

पांवटा साहिब के वार्ड-4 हरिओम कॉलोनी के कुछ भाग को कंटेनमेंट रेड जोन में रखा गया

इसी दौरान पांवटा साहिब के वार्ड-4 हरिओम कॉलोनी में 13 मई की रात को मां-बेटी दोनों पॉजिटिव पाई गईं। साथ ही इसके बाद वार्ड-4, वार्ड-13 व वार्ड-3 के कुछ भाग कंटेनमेंट (रेड जोन) जोन में आ गए। जानकारी के अनुसासर सील इलाकों में घर से बाहर निकलने पर भी मनाही है। बाजार भी बंद हैं। दूध, सब्जी, राशन समेत जरूरी सामान की होम डिलिवरी हो रही है। जिला प्रशासन ने इस जोन का नोडल आफिसर ईओ पांवटा एसएस नेगी को बनाया। ऐसे में पूरी क्षेत्र में कड़ी निगरानी रखी जायेगी।

कंट्रोल रूम में तैनात कर्मियों को टेंशन भरे इस माहौल में हंसने का मौका दे रही जनता

इसी के साथ प्रशासन ने घर-घर सामान की व्यवस्था भी कर दी, लेकिन कंट्रोल रूम में कुछ ऐसे फोन आ रहे हैं, जिससे प्रशासन और कर्मचारी भी हैरान हैं। जानकारी के अनुसार कुछ लोग फोन पर कहते हैं साहब…क्या शराब, मीट, सिगरेट व पान मसाला उपलब्ध हो जाएगा। ऐसे फोन कंट्रोल रूम में तैनात कर्मियों को टेंशन भरे इस माहौल में हंसने का मौका जरूर दे रहे हैं। साथ ही कंट्रोल रूम में तैनात कर्मियों द्वारा उन्हें समझाया जा रहा है की यह सब वो उपलब्ध नहीं कर पाएंगे।

घरेलू सामान की वस्तुओ को करवाया जा रहा उपलब्ध

नोडल आफिसर ने बताया कि कंटेनमेंट जोन से लोगों की कुछ ऐसी डिमांड आ जाती है। जिसे पुरा नहीं किया जा सकता मगर जिन्हें जरूरी घरेलू सामान की आवश्यकता है उन्हें उन वस्तुओं को उनके ही घर तक पहुंचाने के बारे में समझा दिया जाता है। साथ ही कोगो को घर में सुरक्षित रहने की सलाह दी जाती है।

People living in the People living in the Containment Zone are demanding alcohol, meat and cigarettes, employees upset, meat and cigarettes, employees upset

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *