लॉकडाउन-4 के दौरान प्रदेश सरकार से कर्फ्यू में ढील बढ़ाने और बसें चलाने की सिफारिश

हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर लॉकडाउन के बाद हिमाचल में कर्फ्यू फिलहाल सात घंटे का ही रहेग। प्राप्त जानकारी के अनुसार लेकिन आने वाले दिनों में इसमें एक घंटे की छूट देकर राहत दे सकती है। इसी के साथ एचआरटीसी और निजी बसों को सशर्त चलाने पर भी फैसला 20 मई के बाद हो सकता है।

इस बारे में सरकार को सरकारी और निजी बसें चलाने का प्रस्ताव भेजा गया है, लेकिन अभी इस मामले पर भी फैसला नहीं हो सका है। निजी बस चालकों को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही हिमाचल परिवहन विभाग को भी बेहद हानि हो रही है।

वाहनों का संचालन रुकने से लोगों को आने-जाने में हो रही परेशानी

जानकारी के अनुसार लॉकडाउन-4 के दौरान हिमाचल प्रदेश में लोगों की सुविधा के लिए हिमाचल प्रदेश पथ परिवहन निगम (HRTC) और निजी क्षेत्र की बसों को सशर्त चलाने की तैयारी है। इसी के साथ पिछले कई दिनों से बसों और अन्य यात्री वाहनों का संचालन रुकने से लोगों को आने-जाने की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। प्रदेश में बसों की आवाजाही न होने से आम लोगों को परेशानी हो रही है। इसी के साथ ही प्रदेश में व्यापारियों, बागवानों और किसानों को भी दिक्कतें हो रही हैं।

इस कारण से सरकार राज्य में 20 मई के बाद एचआरटीसी और निजी बसों का संचालन सशर्त शुरू कर सकती है। हिमाचल की राजधानी शिमला और जिला मुख्यालयों के लिए एचआरटीसी और निजी बसों को चलाकर लोगों को काफी राहत पहुंचाई जा सकती है। मगर इस पर अभी तक सरकार ने कोई फैसला नहीं लिया है।

Recommendation from the state government to relax curfew and run buses during lockdown-4

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *