प्रदेश में मंडी जिले की चौक ब्राड़ता पंचायत के कोरोना पीड़ित मृतक के परिवार की मदद के लिए आगे आये गांव के लोग

mandi

हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी में कोरोना की बजह से हुई मृत्यु हुई थी। जिस बजह से पूरा परिवार सदमे में था। प्राप्त जानकारी के अनुसार कोरोना से अपने बेटे की जान गंवा चुके मंडी जिले की चौक ब्राड़ता पंचायत के परिवार के लिए गांव के लोगों ने भाईचारे और मानवता की मिसाल कायम की है। जानकारी के अनुसार लगभग दो दर्जन युवाओं और महिलाओं ने कोरोना से जान गंवाने वाले 21 वर्षीय युवक के परिवार की खेतों में बर्बाद हो रही गेहूं की फसल की कटाई और ढुलाई करके मिशाल पेश की है।

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए फसल की कटाई और ढुलाई की

इस गांव के लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए फसल की कटाई और ढुलाई की। ऐसा कर के उन्होंने अपने हिमाचली होने की एक बहुत बड़ी मिसाल दी है। उन्होंने ऐसा कर के यह देखा दिया है की हिमाचल प्रदेश के लोग मद्दद के लिए हमेशा तैयार रहते है।

दयनीय हालत को देखते हुए ब्राड़ता गांव के लोगों ने खुद बीड़ा उठाते हुए मदद के हाथ बढ़ाए

प्रदेश के आईजीएमसी शिमला में 21 वर्षीय युवक की मौत के बाद उसकी माता भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई थीं। जिस बजह से उनका इलाज चेलचौक के कोविड-19 अस्पताल में चल रहा है। इसी के साथ मृतक युवक के ताया को भी संस्थागत क्वारंटीन रखा गया है। जानकारी के अनुसार शोकाकुल परिवार के जो सदस्य घर पर हैं वो नियमों का पालन करते हुए घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं। मौसम की बेरुखी और परिवार की दयनीय हालत को देखते हुए ब्राड़ता गांव के लोगों ने खुद बीड़ा उठाते हुए मदद के हाथ बढ़ाए।

इसी के साथ गांव की महिलाओं और युवाओं ने संकट की इस घड़ी में परिवार के प्रति अपनी एकजुटता दिखाई। इसी के साथ गांववासियों ने उन सभी लोगों का भी आभार प्रकट किया है जिन्होंने परिवार की आर्थिक और सामाजिक रूप से मदद की है। साथ ही गांव वालो के इस पैर भावना को सभी ने सहारा है।

People of the village came forward to help the family of the deceased corona victim of Chowk Bradta Panchayat of Mandi district in the state

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *