प्रदेश में निजी बस चालकों को बड़ी राहत, सरकार ने चार महीने का टोकन-रोड टैक्स किया माफ, अप्रैल से जुलाई तक ले पाएंगे लाभ

HRTC

हिमाचल प्रदेश सरकार ने प्रदेश में कोरोना की बजह से लगे लॉकडाउन के कारण पब्लिक सर्विस व्हीकल के साथ गुड्ज व्हीकल, एजुकेशनल व्हीकल व प्राइवेट सर्विस व्हीकल का 04 महीने का टोकन टैक्स व विशेष पथ कर माफ कर दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कैबिनेट ने यह फैसला लिया था। जिस पर शुक्रवार को परिवहन विभाग ने मुहर लगा दी है। इससे परिवहन महकमे को 35 करोड़ रुपए की चपत लगेगी।

इस योजना से परिवहन विभाग को 35 करोड़ रुपए की चपत

इसी के साथ पहली अप्रैल से 31 जुलाई तक के समयकाल का टोकन टैक्स व रोड टैक्स इन वाहनों के मालिकों को नहीं देना होगा। इससे चालको को बड़ी राहत मिली है, क्योंकि प्रदेश में लगे लॉकडाउन के समय में उनके वाहन नहीं चले और उनका कारोबार नहीं हो सका है। ऐसे में उन्हें सरकार ने इस वर्ग को राहत प्रदान की है। जिसका उन्हें लाभ मिल पायेगा।

परिवहन विभाग के पास 3,320 बसें पंजीकृत

प्राप्त आंकड़ों के अनुसार राज्य में परिवहन विभाग के पास 3,320 बसें पंजीकृत हैं, इनके अलावा 7,913 मैक्सी कैब हैं, वहीं 4,242 ऑटो भी विभाग के पास पंजीकृत हैं। 16,582 टैक्सियां रजिस्टर्ड हैं। लाइट मोटर व्हीकल गुड्ज कैरियर 4,872 रजिस्टर्ड हैं, वहीं मीडियम गुड्ज कैरियर की संख्या 11,182 है। सरकार द्वारा इन वाहनों के रोड टैक्स व टोकन टैक्स को माफ किए जाने से परिवहन विभाग को 35 करोड़ रुपए का नुकसान होगा। इस 04 महीने में इतनी राशि इन वाहनों से मिलनी थी।

मार्च महीने के टैक्स को पंजीकृत वाहनों के मालिक अगस्त महीने में अदा कर सकेंगे

जानकारी के अनुसार मार्च महीने के टैक्स को पंजीकृत वाहनों के मालिक अगस्त महीने में अदा कर सकते हैं, जिसमें लॉकडाउन पीरियड के दौरान का 10 दिन का पैसा भी इनको माफ कर दिया जाएगा। इस संबंध में प्रधान सचिव परिवहन जगदीश शर्मा की ओर से आदेश जारी हुए हैं, जिन्हें लागू कर दिया गया है। सरकार से इस फैसले से चालकों और वाहन के मालिकों को बहुत राहत मिली है। तो एक तरफ सरकार को इस के तहत हानि होगी।

Big relief to private bus drivers in the state, government waives four-month token-road tax, will be able to avail from April to July

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *