प्रदेश वासियो को फिर मिली निराशा, अभी नहीं चलेंगी बस- कैबिनेट मीटिंग में होगा फैसला

हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस के इस समयकाल में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को फिलहाल 23 मई तक नहीं चलाया जाएगा। जानकारी के अनुसार कैबिनेट सब कमेटी बुधवार को इस मामले में अपनी सिफारिश कैबिनेट को भेजेगी। इसी के साथ कैबिनेट की बैठक 23 मई को होनी निश्चित हुई है, जिसमें सरकार आगमी आदेश जारी करेगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार सब कमेटी को एचआरटीसी की ओर से प्रस्ताव सौंप दिया गया है। जिस पर बुधवार को चर्चा होनी बाकि है।

50 फीसदी बस किराया बढ़ोतरी का भी प्रस्ताव

हिमाचल प्रदेश में किस तरह बसों का संचालन किया जा सकता है, इसका एक पूरा खाका सौंपा गया है। साथ ही यह उम्मीद है कि प्रदेश की जनता को सरकार कुछ राहत दे। परिवहन की ओर से जो प्रस्ताव आया है, उसमें 50 फीसदी बस किराया बढ़ोतरी का भी प्रस्ताव है। हालांकि यह किराया बढ़ेगा, तभी तक जब तक कोरोना के कारण लॉकडाउन चल रहा है। उसके बाद इन दरों में फिर से संशोधन होगा। मगर आम जनता को इस से परेशानी हो सकती है। कई परिवारो को अभी लॉकडाउन में रोजगार नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में बढ़ते बस किराये से आम जनता को परेशानी हो सकती है।

50 फीसदी क्षमता के साथ ही बसें चलेंगी और इसमें सामाजिक दूरी का ध्यान रखना होगा

केंद्र सरकार ने 31 मई तक प्रदेश में लॉकडाउन बढ़ाया गया है। साथ ही किराया बढ़ोतरी इस कारण से भी है, क्योंकि 50 फीसदी क्षमता के साथ ही बसें चलेंगी और इसमें सामाजिक दूरी का ध्यान रखना होगा। ऐसे में निगम अपना खर्च पूरा नहीं कर पाएगा। इस लिए इस बढ़ोतरी को करना भी जरुरी है।
जैसे ही प्रदेश में लॉकडाउन खतम होगा वैसे ही इन बढ़ोतरी को फिर से समान्य कर दिया जायेगा।

State residents get disappointed again, will not run buses now – will decide in cabinet meeting

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *