विजिलेंस के हत्थे चढ़े डॉ. एके गुप्ता पूर्व स्वास्थ्य निदेशक, घर से चार लाख रुपये किये गए बरामद, 25 खातों की पासबुक भी मिली

himachal pradesh

हिमाचल प्रदेश में घूस लेने के कथित ऑडियो के वायरल होने के बाद विजिलेंस के हत्थे चढ़े डॉ. एके गुप्ता के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार रात गिरफ्तारी के बाद वीरवार को जब एसआईयू की टीमों ने एसपी शालिनी अग्निहोत्री के नेतृत्व में गुप्ता के घर पर छापा मारा तो वहां करीब चार लाख रुपये की नकदी बरामद की गई। जानकारी के द्वारा इसके अलावा इनके घर से विभिन्न बैंकों के 25 खातों की पासबुक और कई अचल संपत्तियों से जुड़े दस्तावेज भी ब्यूरो के हाथ लग गए। यह विजिलेंस विभाग को एक बड़ी कामयाबी है।

कार्यालय से भी कई अहम दस्तावेज सीज किए

जानकारी के अनुसार इसके अलावा स्वास्थ्य निदेशालय स्थित गुप्ता कार्यालय से भी कई अहम दस्तावेज सीज किए गए हैं। इसी के साथ इस बात की संभावना जताई जा रही है कि जिस पांच लाख की घूस की बात कही जा रही थी। यह राशि उसका हिस्सा हो सकती है। साथ ही कोविड के दौर में भी निदेशक स्तर के अधिकारी के घर पर भारी मात्रा में नकदी मिलने के बाद ब्यूरो अब आय से अधिक संपत्ति के नजरिये से भी जांच की तैयारी में है। साथ ही इस मामले की पूरी तरह से जांच में जुटा है।

हालांकि ब्यूरो मामले में आधिकारिक तौर पर कुछ भी बोलने से बच रहा है। बताया जा रहा है की वीरवार से विजिलेंस की एक अन्य टीम उस व्यक्ति से पूूछताछ करने में जुटी है जिससे पूर्व निदेशक की फोन पर बातचीत हुई और ऑडियो वायरल हो गया।

पूर्व निदेशक गुप्ता तकनीकी रूप से पांच दिन की न्यायिक हिरासत में

इसी के साथ ही स्वास्थ्य विभाग से जुड़े कई अधिकारियों के भी बयान लिए गए हैं। जानकारी के द्वारा शुक्रवार को पूर्व निदेशक की ओर से विजिलेंस अदालत में जमानत याचिका लगाई गई लेकिन जिरह के बाद निदेशक के वकील ने एप्लीकेशन वापस ले ली। फिलहाल पूर्व निदेशक गुप्ता तकनीकी रूप से पांच दिन की न्यायिक हिरासत में है लेकिन स्वास्थ्य कारणों के चलते अभी भी आईजीएमसी में भर्ती हैं। तथा स्वास्थ्य होते ही उन पर इस मामले को लेकर पूछताछ की जा सकती है।

Vigilance recovered Dr. AK Gupta, former health director, recovered four lakh rupees from home, passbook of 25 accounts was also found

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *