विशाल नैहरिया सहित अन्य 08 विधायकों के विशेष सत्र बुलाने की मांग पर प्रदेश अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदलने जताई नराजगी, भेजा कड़ा नोटिस

हिमाचल प्रदेश के भाजपा प्रदेशा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल के कड़े संज्ञान के बाद भाजपा के आठों विधायक कोरोना वायरस पर विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने के मामले में बैकफुट पर आ गए हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते दिन भाजपा के आठ विधायक कांग्रेस विधायक दल के नेता और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री कांग्रेस विधायकों के साथ विधानसभा अध्यक्ष से मिले।

इसी दौरान कांग्रेस और भाजपा विधायकों के प्रतिनिधिमंडल ने विधानसभा अध्यक्ष को विशेष सत्र बुलाने की मांग की थी। इसी लिए भाजपा सरकार और संगठन को विश्वास में लिए बिना इस तरह से विशेष सत्र की मांग के समर्थन में उतरे विधायकों का भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल ने कड़ा एतराज जताया है।

भाजपा विधायकों ने गुरुवार को जारी एक संयुक्त बयान में दी जानकारी

इसी के साथ उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष को ज्ञापन देने वालों में विधायक राकेश पठानिया, रमेश धवाला, मुलखराज प्रेमी, विशाल नेहरिया, अरुण कुमार, जिया लाल, कमलेश कुमारी और रीना कश्यप शामिल हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के सख्त रुख के बाद भाजपा विधायकों ने गुरुवार को जारी एक संयुक्त बयान में कहा कि विधानसभा अध्यक्ष को भाजपा विधायकों की ओर से जो पत्र दिया गया है। इसी दौरान उन्होंने कहा कि वह किसी भी प्रकार से यह भावना नहीं रखता है। विधानसभा का विशिष्ट सत्र बुलाया जाए।

विधायकों की ओर से दिया गया पत्र अनुचित बताया

वहीं डॉ. राजीव बिंदल ने भी मीडिया को जारी बयान में कहा कि विधानसभा का विशिष्ट सत्र बुलाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के विधायकों की ओर से दिया गया पत्र अनुचित है। हिमाचल प्रदेश भाजपा इस गतिविधि का कड़ा नोटिस लेती है। बिंदल ने कहा कि कोरोना संकट में विधान सभा सत्र को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया गया था और अभी संकट बरकरार है। इस लिए अभी धान सभा सत्र को बुलाना सही नहीं है।

बड़ी बैठकें बंद हैं, भाजपा का स्पष्ट मत ऐसे में नहीं विधानसभा सत्र को बुलाना अनुसूचित

इसी दौरान उन्होंने यह भी कहा की हिमाचल प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व में हिमाचल को कोरोना से बचाने के लिए जीतोड़ कोशिश कर रही है। ऐसे में भाजपा का स्पष्ट मत है कि जब सभी प्रकार की बड़ी बैठकें बंद हैं तो विधानसभा सत्र को बुलाना अनुसूचित होगा। इसी दौरान वहीं सफाई में नूरपुर के भाजपा विधायक राकेश पठानिया का कहना है कि हम सब वहां पर विधानसभा समितियों की बैठक के लिए गए थे और मजाकिया तौर पर वहां एकत्रित हो गए। इसी दौरान राकेश पठानिया, रमेश धवाला और विशाल नैहरिया ने बयान जारी किया है।

मंशा विशेष सत्र बुलाने की नहीं थी, राकेश पठानिया, रमेश धवाला और विशाल नैहरिया

जिसमें उन्होंने स्पष्ट किया है कि उनकी मंशा विशेष सत्र बुलाने की नहीं थी। साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व में चल रही भाजपा सरकार कोरोना से की जा रही लड़ाई को बखूबी लड़ रही है और हिमाचल प्रदेश सरकार और भारतीय जनता पार्टी ने हिमाचल प्रदेश के जनमानस की लगातार सेवा की है। इसी के साथ पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश और जयराम ठाकुर के नेतृत्व में प्रदेश सरकार बेहतरीन कार्य कर रही है। जिस का लाभ जनता को मिल रहा है।

State President Dr. Rajeev Bindle expressed resentment on the demand for calling special session of 08 other MLAs including Vishal Naihariya, sent strict notice

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *