प्रदेश में करीब 500 रूटों को क्लब करने की तैयारी कर रहा हिमाचल परिवहन विभाग, रोजाना लग रही करोड़ों की चपत

हिमाचल प्रदेश में खाली दौड रही बसों के चलते एचआरटीसी ने हाथ खड़े करने शुरू कर दिए हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार बसों में यात्रियों की आक्यूपेंसी नाममात्र होने से निगम अब रूटों को क्लब कर बसें चलाने जा रहा है। इसी दौरान गुरुवार को हिमाचल प्रदेश में करीब 500 रूटों को क्लब करने की तैयारी चल रही है।

इसके साथ ही उन ग्रामीण रूटों पर भी बसों का सचांलन बंद हो सकता है। जिन रूटों पर चालक व परिचालक के खाने व रहने की पूर्ण व्यवस्था नहीं है। इसी के साथ एचआरटीसी ने तीसरे दिन बुधवार को प्रदेश में 2,254 रूटों पर बसों का संचालन किया शुरू किया था तथा शाम चार बजे तक 2,054 रूटों पर निगम द्वारा बसें चला दी गई थीं।

निगम की बसों में आक्यूपेंसी 10 फीसदी से कम चल रही

जानकारी के अनुसार 04 बजे के बाद 200 रूटों पर बसों के संचालन का प्लान था। यहां तक की निगम की बसों में आक्यूपेंसी दर काफी कम चल रही है। इसी के साथ निगम की बसों में आक्यूपेंसी 10 फीसदी से कम चल रही है। मगर इसके बावजूद निगम प्रबंधन द्वारा रूटों पर जनता को परिवहन सेवा उपलब्ध करवाई जा रही है।

तथा जनता को बेहतर सेवा उपलब्ध करवाई जा रही है। इसी लिए अब बसों के खाली दौड़ने से (HRTC) ने अब रूटों को क्लब करने का फैसला लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार हिमाचल परिवहन निगम प्रबधन गुरुवार से हिमाचल प्रदेश में बसों को रूट क्लब कर चलाया जाएगा।

जनता को परिवहन को लेकर दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है

इसी के साथ राज्य में करीब 500 रूटों को क्लब करने का प्लान तैयार किया गया है। इस का असर आम जनता पर भी पद सकता है। बसों को क्लब करने से जनता को परिवहन को लेकर दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। मगर इससे हिमाचल प्रदेश परिवहन निगम को रोजाना लग रही करोड़ों की चपत कुछ हद तक कम होगी। तथा परिवहन विभाग बेहतर सेवाएं जनता को दे पायेगा।

Himachal Transport Department is preparing to club around 500 routes in the state, millions of crores are getting daily

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *