लॉकडाउन के कारण महिलाओं पर हो रहा अत्याचार, एक महीने में 64 शिकायतें घरेलू हिंसा से समबन्दित

हिमाचल प्रदेश में कोरोना के दौरान लगे लॉकडाउन के कारण महिलाओं पर होने वाले घरेलू हिंसा के तहत अत्याचार रुकने का नाम ही नहीं ले रहे। प्राप्त जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश में महिला आयोग में 64 शिकायतें व्हाट्स

ऐप के माध्यम से की गई हैं। बताया जा रहा है है की हैरानी इस बात की है कि मई से लेकर 15 जून तक 64 शिकायतें महिलाओं

ने घरेलू हिंसा से संबधित की है। इसी के साथ आयोग के अनुसार राज्य में घरेलू हिंसा के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। बताया जा रहा है की

फिलहाल लॉकडाउन के बीच घरेलू हिंसा के जो मामले सामने आए हैं। उनमे से अधिकतर चंबा, मंडी, कांगड़ा, शिमला जिला के ऊपरी क्षेत्र व हमीरपुर से आये हैं।

महिलाओं पर घर में होने वाले अत्याचारों को रोकने के लिए ऑनलाइन व्हाट्स ऐप ग्रुप बनाया गया था

प्राप्त जानकारी के अनुसार आयोग का दावा है कि हिमाचल में और देश भर में लगे इस लॉकडाउन के बीच या महामारी के इस संकट में महिलाओं पर घर में

होने वाले अत्याचारों को रोकने के लिए ऑनलाइन व्हाट्स ऐप ग्रुप बनाया गया था। बताया गया है की यह व्हाट्स ऐप नंबर आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध करवाया गया था, ताकि कोई भी महिला अपने

ऊपर हो रहे अत्याचारों की शिकायत आयोग में कर सके। पहली बार महिला आयोग ने घरेलू हिंसा व दहेज के लिए प्रताडि़त करने या फिर महिलाओं पर

अत्याचारों को सामने लाने के लिए ऑनलाइन मदद मुहैया करवाई। ताकि प्रदेश की महिलाओ को सुरक्षित रखा जा सके।

30 से ज्यादा शिकायतें अकेले मानसिक प्रताड़ना को लेकर दर्ज करवाई गई

इसी के साथ बताया जा रहा है की महिला आयोग के अनुसार घरेलू हिंसा के मामले राज्य में अभी तक नहीं थम रहे हैं।

जानकारी के अनुसार आयोग की ओर से भी हैरानी जताई गई कि डेढ़ माह में इतनी महिलाओं ने घरेलू हिंसा को लेकर ऑनलाइन शिकायत दर्ज करवाई है।

प्राप्त आंकड़ों के अनुसार 30 से ज्यादा शिकायतें अकेले मानसिक प्रताड़ना को लेकर

दर्ज करवाई गई। फ़िलहाल प्रदेश में शारीरिक प्रताड़ना का एक भी मामला इस लॉकडाउन में सामने नहीं आया।

जिस से यह ज्ञात होता है की प्रदेश में महिलाये अपने अधिकारों के लिए थोड़ी बहुत जागरूक हुई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *