रिटायरमेन्ट से कुछ दिन पहले ही हार्ट अटैक की बजह से हुई मौत, भारतीय सेना में दे रहे थे अपनी सेवाएं

हिमाचल प्रदेश की ग्राम पंचायत अग्घार के नाहलवीं गांव के हवलदार अनूप कुमार का शव गुरुवार शाम को उनके पैतृक गांव पहुंचा। प्राप्त जानकारी के अनुसार शव घर पहुंचते ही गांववासी गमगीन हो गए।

बताया जा रहा है की अनूप कुमार की पत्नी कामलेश व दो मासूम बेटियों के आंसू रोके नहीं रुक रहे थे। इन बेटियों के लिए

यह विश्वास करना मुशिकिल हो गया है। कि उनके सिर से पिता का साया उठ गया है। इसी के साथ गुरुवार को अनूप कुमार का दाह संस्कार पैतृक श्मशानघाट पर किया गया।

इसी दौरान गांववासियों का कहना है 04 दिन पहले प्रशासन की तरफ से कोई अधिकारी नहीं पहुंचा। इस से प्रशासन के खिलाफ गावो वालो में आक्रोश है।

बेटा न होने के कारण दोनों बेटियों अंकाक्षा व अन्नया ने पिता को मुखाग्नि दी

प्राप्त जानकारी के अनुसार वहीं बेटा न होने के कारण दोनों बेटियों अंकाक्षा व अन्नया ने पिता को मुखाग्नि दी। इसी के साथ बताया जा रहा है की अनूप कुमार पुत्र सुरजीत सिंह उम्र 42 साल का हार्ट अटैक से जबलपुर में देहांत हो गया था।

इसी के साथ 21 जून रविवार के दिन परिवार को सूचना दी गई थी। जानकारी के अनुसार अनूप कुमार 12 जैक रायफल

पलटून में हवलदार के पद पर तैनात थे। बताया जा रहा है की इसी माह 30 जून के दिन अनूप कुमार फौज से रिटायर होने वाले थे।

इसी मौके पर प्रशासन की तरफ से केवल हमीरपुर तहसीलदार राजीव ठाकुर उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *