हिमाचल में फैली कोरोना महामारी के चलते, घट जाएगा प्रदेश में विकास का बजट

हिमाचल प्रदेश में फैले कोरोना संकट के बीच हिमाचल में विकास की रेल गाडी थम जायेगी। प्रदेश में विकास का बजट घट जाएगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार यही हालात रही तो आने वाले समय में कर्मचारियों और पेंशनरों को

वेतन और पेंशन जारी करने में भी दिक्कत आ सकती है। बताया जा रहा है की सरकार के शीर्ष अधिकारी वित्तीय प्रबंधन के लिए माथापच्ची में जुट गए हैं।

इसी के साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री सीएम जयराम ठाकुर ने अपने तीसरे बजट में नया प्रयोग किया था। साथ ही चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 के इस बजट में उन्होंने कर्मचारियों, पेंशनरों, ब्याज अदायगी,

ऋण अदायगी आदि पर खर्च होने वाले बजट को घटा दिया था। प्रदेश में फैली कोरोना महामारी की बजह से प्रदेश के विकास पर काफी प्रभाव पड़ेगा।

राजस्व घाटे को भी आश्चर्यजनक तरीके से कम किया गया

बताया जा रहा है की इस बार विकास पर खर्च किए जाने वाले बजट को बढ़ा दिया गया था। ऐसा सीएम इसलिए कर पाए थे कि उनके सामने पिछले बजट की तरह इस बार कोई बड़ी चुनावी चुनौती नहीं थी।

इसी लिए हालांकि, इस साल के अंत में पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव जरूर प्रस्तावित हैं। जानकारी के अनुसार दूसरी ओर राजस्व घाटे की पूर्ति को भी

पंद्रहवें वित्तायोग से इस बार अच्छी ग्रांट मिली है। साथ ही इससे राजस्व घाटे को भी आश्चर्यजनक तरीके से कम किया गया है। हिमाचल में फैले कोरोना के चलते इस पर काफी प्रभाव पड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *