हिमाचल के उच्च क्षेत्रो में हींग और केसर की खेती को बढ़ावा देगी प्रदेश सरकार, हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ने बैठक में दी सुचना

himachal pradesh hing

हिमाचल प्रदेश सरकार ने जिला किन्नौर, लाहुल-स्पीति और चंबा जिले के अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हींग और केसर की खेती को बढ़ावा देने की योजना बनाई है।

प्राप्त जानकरि के अनुसार किसानों की आर्थिक स्तिथि को मजबूत करने के लिए इन क्षेत्रों में कृषि से संपन्नता योजना के तहत इस खेती के लिए प्रोत्साहित करेगी।

इसी लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को वर्ष 2020-21 के लिए बजट आश्वासनों पर आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए इस बात की जानकारी दी।

एक लाख किसानों को प्राकृतिक कृषि अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने का प्रयास

जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना के तहत हिमाचल के लगभग एक लाख किसानों को प्राकृतिक कृषि

अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने के प्रयास किए जा रहे हैं। ताकि उन्हें उचित लाभ मिल पाए। तथा कोरोना की इस खड़ी में उनकी आर्थिक स्तिथि में सुधार आ पाए।

20 हजार हेक्टेयर भूमि को प्राकृतिक खेती के अंतर्गत लाया जाएगा

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस वर्ष के अंत तक 20 हजार हेक्टेयर भूमि को प्राकृतिक खेती के अंतर्गत लाया जाएगा। बताया जा रहा है की इससे प्रदेश के

बहुत से किसानों की आर्थिकी मजबूत होगी और उनके उत्पादों को रासायनिक खाद मुक्त होने के कारण अच्छे मूल्य भी प्राप्त होंगे।

हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार करसोग के कुलथ, पांगी के ठांगी, चंबा के धातु शिल्प, चंबा की चुख और भरमौर के राजमाह को भौगोलिक संकेतक के रूप में पंजीकृत करवाने के लिए प्रयासरत है।

प्रदेश के किसानो की आर्थिकी सुदृढ़ होगी

इस प्रयास से न केवल क्षेत्र के लोगों की आर्थिकी सुदृढ़ होगी, बल्कि उन्हें अपने उत्पादों को बेहतर बाजार भी मिल सकेगा।

तथा किसान अपनी कड़ी मेहनत का अच्छा दाम भी बजार से ले पाएंगे। मुख्यमंत्री के विशेष सचिव डीसी राणा और अन्य अधिकारियों ने भी इस बैठक में भाग लिया।

जानकारी के अनुसार प्रधान सचिव वित्त प्रबोध सक्सेना हिमाचल के मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव जेसी शर्मा, सचिव पर्यावरण और विज्ञान प्रौद्योगिकी रजनीश, सचिव सचिवालय प्रशासन और सामान्य प्रशासन कुमार, सचिव

ग्रामीण विकास और पंचायती राज संदीप भटनागर, सचिव वित्त अक्षय सूद, विशेष सचिव कृषि राकेश कंवर और मुख्यमंत्री के विशेष सचिव डीसी राणा और अन्य अधिकारियों ने भी बैठक में भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *