हिमाचल सरकार ने लिया प्रदेश में आशा कार्यकर्ताओं को जून-जुलाई माह के लिए दो-दो हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान करने का निर्णय

हिमाचल प्रदेश सरकार ने प्रदेश की सभी आशा कार्यकर्ताओं को जून-जुलाई माह के लिए दो-दो हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान करने का निर्णय लिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंगलवार को शिमला से प्रदेश की आशा कार्यकर्ताओं को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए यह बात कही।

इस से हिमाचल में कोरोना काल में अपने कार्य में जुटे आशा वर्करों को इस निर्णय से राहत मिली है।

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी ने पूरे विश्व को हैरान किया है और इसके लिए चिकित्सा सेवाएं तैयार नहीं थीं।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश इस महामारी से प्रभावशाली तरीके से लड़ रहा है और इस संक्रमण को रोकने में हिमाचल प्रदेश की आशा कार्यकर्ता महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं।

लोगों को क्वारंटीन नियमों का सख्ती से पालन करने के लिए भी प्रेरित किया

इसी के साथ उन्होंने कहा कि आशा कार्यकर्ताओं ने इन्फ्लुएंजा लक्षण वाले लोगों का पता लगाने के साथ-साथ लोगों को क्वारंटीन नियमों का सख्ती से पालन करने के लिए भी प्रेरित किया है।

साथ ही उनकी जांच तथा समय समय में महत्वपूर्ण जानकारी एकत्रित कर प्रसाशन की मदद कर रहे है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार की ओर से शुरू किए गए एक्टिव केस फाइंडिंग अभियान की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सराहना की है।

इसी दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने अन्य मुख्यमंत्रियों को भी हिमाचल प्रदेश का अनुसरण करने और अपने संबंधित

संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए फेस मास्क का उपयोग करने के बारे में जागरूक करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई

प्रदेशों में इन्फ्लुएंजा जैसी बीमारी के मरीजों की पहचान करने के लिए यह अभियान शुरू करने का सुझाव दिया है।

इसी दौरान उन्होंने कहा कि आशा कार्यकर्ताओं ने लोगों को सामाजिक दूरी के महत्त्व के बारे में और संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए फेस मास्क का उपयोग करने के बारे में जागरूक करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

साथ ही प्रदेश में कोरोना को रोकने के लिए विभिन्न योगदान दिया है।

135 करोड़ जनसंख्या वाले देश भारत में 13 हजार 699 मृत्यु दर्ज की गई

इसी के साथ प्राप्त जानकारी के अनुसार जयराम ठाकुर ने कहा कि यद्यपि हमारे देश में कोविड-19 के मामले बढ़ रहे हैं। पर फिर भी स्थिति नियंत्रण में हैं।

उन्होंने कहा कि दुनिया के 15 सबसे विकसित देशों में 4.65 लाख लोगों की जान कोरोना के कारण गई है। जबकि इन देशों की कुल जनसंख्या 142 करोड़ है। इसी के साथ भारत में

135 करोड़ जनसंख्या होने के बावजूद भी अभी तक कोरोना के कारण 13 हजार 699 मृत्यु दर्ज की गई है।

इसी दौरान उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा समय रहते लिए गए लॉकडाउन के निर्णय को जाता है। जिससे यह कोरोना भारत में नियंत्रण में रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *