कुल्लू के सेंटारोजा वैरायटी के प्लम ने लगाई लंबी छलांग, प्रदेश के बागवानों को मिली राहत

हिमाचल प्रदेश में फैले कोरोना कोरोना काल में कई क्षेत्रों में मंदी की मार है। प्राप्त जानकारी के अनुसार तो प्रदेश के जिला कुल्लू के सेंटारोजा वैरायटी के प्लम ने लंबी छलांग लगाई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में कारगर इस प्लम को दशकों बाद रिकॉर्ड 92 रुपये प्रति किलो दाम मिल रहे हैं। बताया जा रहा है

की औषधीय कंपनियों में भी इस प्लम की खासी मांग है। कोरोना काल में कुल्लू के किसानो और बागवानों को थोडू राहत मिली है।

इसी के साथ रिकॉर्ड दाम मिलने से घाटी के बागवान बागबाग हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार को सब्जी मंडी में प्लम 92 रुपये किलो बिका।

सब्जी मंडी में प्लम 92 रुपये किलो बिका रहा

इसी के साथ बताया जा रहा है कि इस साल प्लम की पैदावार कम है। लिहाजा, मांग बढ़ने से भी कीमत में बढ़ोतरी हुई है। जानकारी के अनुसार 87 वर्षीय प्रगतिशील बागवान झाबे राम ठाकुर ने कहा कि आज तक ऐसे उम्दा दाम प्लम के कभी भी नहीं मिले हैं।

इसी के साथ बागवान अमित ठाकुर, चमन ठाकुर, अनूप भंडारी, ज्ञान ठाकुर, वीर सिंह, नवीन, जयचंद, अनिश, अखिल ठाकुर ने कहा कि इस साल प्लम की सेंटारोजा वैरायटी ने कई दशकों का रिकॉर्ड तोड़ा है।

पिछले साल यही प्लम 45 से 50 रुपये किलो बिका था

बताया जा रहा है की पिछले साल यह प्लम 45 से 50 रुपये किलो बिका था। लेकिन इस बार फल उत्पादक मंडल कुल्लू के अध्यक्ष प्रेम शर्मा ने कहा कि इस बार प्लम के अच्छे दाम मिल रहे हैं।

इसी के साथ बंदरोल आढ़ती एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहन ठाकुर ने कहा कि सोमवार को ए श्रेणी प्लम की करीब 400 क्रेट पहुंची हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *