प्रदेश में घाटे में चल रहे बीएसएनएल की कार्रवाई का असर प्रदेश के एकमात्र ट्रेनिंग सेंटर पर भी पड़ा

हिमाचल प्रदेश में घाटे में चल रहे बीएसएनएल की कार्रवाई का असर प्रदेश के एकमात्र ट्रेनिंग सेंटर पर भी पड़ा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश के जिला मंडी के सुंदरनगर में स्थापित भारत संचार निगम लिमिटेड के हिमाचल में चल रहे इकलौते ट्रेनिंग सेंटर पर ताला लग गया है। बताया जा रहा है की करीब 26 वर्षों से चलाए जा रहे इस ट्रेनिंग सेंटर

ट्रेनिंग सेंटर बंद होने के कारण बीएसएनएल पर पड़ रहे अतिरिक्त वित्तीय बोझ को कम करने का प्लान

में अब बीएसएनएल कर्मियों को ट्रेनिंग की सुविधा नहीं मिलेगी। इसके लिए अब उन्हें हिमाचल प्रदेश से बाहर जयपुर, राजपुरा और जबलपुर जाना होगा।

इसी दौरान ट्रेनिंग सेंटर बंद होने के कारण बीएसएनएल पर पड़ रहे अतिरिक्त वित्तीय बोझ को कम करना बताया जा रहा है।

ट्रेनिंग सेंटर के भवन को किसी सरकारी या गैर सरकारी कंपनी को किराए पर देने की बात की जा रही

प्राप्त जानकारी के अनुसार इसी वर्ष पहली फरवरी को इस ट्रेनिंग सेंटर को भी बंद कर दिया गया था। अब खाली पड़े ट्रेनिंग सेंटर के भवन को किसी सरकारी या गैर सरकारी कंपनी को किराए पर देने की बात की जा रही है।

साथ ही इस ट्रेनिंग सेंटर में वरिष्ठ दूरसंचार कार्यालय सहायक, जेई, टेलिकॉम टेक्निशियन, सहायक टेलिकॉम

26 वर्षो में हिमाचल के साथ ही बाहरी राज्यों से भी कई कर्मचारी यहां पर प्रशिक्षण के लिए आते रहे है

टेक्निशियन, चपरासी और ऑनलाइन अपग्रेडेशन की ट्रेनिंग होती थी। लेकिन अब उन्हें यह सुविधा हिमाचल प्रदेश में नहीं मिल पाएगी। 26 वर्षो में हिमाचल

के साथ ही बाहरी राज्यों से भी कई कर्मचारी यहां पर प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके हैं। इस को 1994 में स्थापित किया गया था।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *