अब सरकारी स्कूलों के छात्रों के खाने में डलेगा आयोडीन और आयरन के मिश्रण से बना नमक

हिमाचल प्रदेश में फैले कोरोना के इस संकटकाल में राहत वाली खबर सरकारी स्कूलों के छात्रों के लिए आई है। तो उसी के साथ मिड-डे मील के तहत अब छात्रों के खाने में आयोडीन और आयरन के मिश्रण से बना फॉर्टिफाइड नमक डाला जाएगा। जिस से छात्रों को खाने में आयरन के शक्ति मिलेगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार सरकार के आदेशों के बाद प्रारंभिक शिक्षा विभाग ने सिविल सप्लाई को ऑर्डर कर दिया है।

सिविल सप्लाई से हर साल 3,556 क्विंटल नमक का ऑर्डर किया

बताया जा रहा है कि शिक्षा विभाग ने सिविल सप्लाई से हर साल 3,556 क्विंटल नमक का ऑर्डर किया है। इसी के साथ विभागीय जानकारी के अनुसार हर साल सरकारी स्कूलों में मिड-डे मील बनाते हुए छात्रों के खाने पर 3,556 क्विंटल नमक लगता है। ऐसे में अब सिविल सप्लाई डिपुओं में यह नमक मुहैया करवाएगा।

आयोडीन व आयरन दोनों के मिश्रण से बने फॉर्टिफाइड नमक की व्यवस्था की जा रही

जानकारी के अनुसार इससे पहले मिड-डे मील बनाते वक्त छात्रों के खाने में टाटा व आयोडीन नमक का इस्तेमाल होता था। लेकिन अब कोरोना के इस संकट में छात्रों का इम्युनिटी सिस्टम ठीक हो सकें, इस मकसद से आयोडीन व आयरन दोनों के मिश्रण से बने फॉर्टिफाइड नमक की व्यवस्था की जा रही है। जिस से छात्रों को लाभ मिल पायेगा तथा छात्र शारीरिक रूप से भी स्वस्थ्य रह पाएंगे।

अहम यह है कि अगस्त से डबल फॉर्टिफाइड नमक स्कूलों तक पहुंचा दिया जाएगा। अगर अगस्त तक स्कूल नहीं खुल पाते हैं, तो ऐसे में घर पर राशन देने के साथ ही छात्रों को फॉर्टिफाइड नमक भी मुहैया करवाया जाएगा। जिस से छात्र अपने घर पर ही इस का लाभ ले पाएंगे।

अढ़ाई लाख छात्रों को मिलने वाले दोपहर के खाने में डबल फॉर्टिफाइड नमक का स्वाद

हिमचाल में अढ़ाई लाख छात्रों को मिलने वाले दोपहर के खाने में डबल फॉर्टिफाइड नमक का स्वाद मिलेगा। इसको लेकर प्रशासन की ओर से पूरी तैयारी कर ली गई है। गौर हो कि प्रारंभिक शिक्षा विभाग ने आदेश दिए हैं कि घर पर अढ़ाई लाख छात्रों को मिड-डे मील का खाना दिया जाए। जानकारी के अनुसार यानी कि अब जिला उपनिदेशकों को मिड-डे मील छात्रों को घर तक देना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *