अन्य राज्यों से हिमाचल लौटने वाले व्यक्तियों में यदि बीमारी के लक्षण मिले तो होना पड़ेगा संस्थागत क्वारंटीन, मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान

हिमाचल प्रदेश में परिवहन सेवाएं शुरू होने के साथ-साथ कोरोना महामारी के प्लान में भी बड़ा बदलाव किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बाहरी राज्यों और रेड जोन से आने वाले लोग, जिनमें बीमारी के लक्षण होंगे। उन्हें संस्थागत क्वारंटीन किया जाएगा। इसी के साथ जिन लोगों में लक्षण नहीं पाए जाते हैं उन्हें घर भेजकर 14 दिन तक होम क्वारंटीन अनिवार्य किया है। जानकारी के अनुसार जो लोग बाहरी राज्यों से आएंगे उन्हें यहां आकर पास बनाना होगा।

इसी के दौरान अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने इसकी अधिसूचना जारी की है। इसी के साथ एक जिले से दूसरे जिले में जाने वाले लोगों को भी अब घर में ही 14 दिन तक होम क्वारंटीन नहीं होना पड़ेगा। हिमाचल प्रदेश से दूसरे राज्यों में जाने के लिए पास अनिवार्य किया गया है। 48 घंटे के भीतर लोगों को वापस होना होगा। प्रदेश सरकार ने यह सुचना जारी की है।

48 घंटे के भीतर प्रदेश नहीं लोटते तो होना पड़ेगा होम क्वारंटीन

इसी के साथ यदि बाहरी राज्य जाने वाले हिमाचली लोग अगर 48 घंटे के भीतर प्रदेश नहीं लोटते तो उन्हें होम क्वारंटीन होना पड़ेगा। इसी के साथ अगर लक्षण पाए जाते हैं तो उन्हें संस्थागत क्वारंटीन किया जाएगा। प्रदेश सरकार ने सैंपल लेने की प्रक्रिया में भी बदलाव किया है। अगर क्वारंटीन लोगों की तबीयत खराब होती है तो उन्हें 104 नंबर पर सूचित करना होगा। ऐसे में स्वास्थ्य कार्यकर्ता मोबाइल वैन लेकर घर आएंगे। सैंपल लेने पर उन्हें जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा जाएगा।

स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को सैंपल लेने का प्रशिक्षण दिया जाएगा

इसके लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को सैंपल लेने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसी के साथ सैंपल कोरोना पॉजिटिव आने की स्थिति में संबंधित व्यक्ति को उपचार के लिए अस्पताल लाया जाएगा। इसी के साथ सरकार का मानना है कि क्वारंटीन किए गए लोगों के फोन नंबर लिए गए हैं। इसी के साथ इन लोगों को ऐप के साथ जोड़ा गया है। अगर यह लोग इधर-उधर घूमते हैं तो उन्हें ट्रेस किया जा सकेगा। साथ ही प्रदेश में फैले कोरोना वायरस को लेकर प्रदेश सरकार विभिन्न कदम उठा रही है।

If people return to Himachal from other states, if they get symptoms of illness, then institutional quarantine will be done, Chief Secretary Health RD Dhiman

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *