प्रदेश में 87 फीसदी कोरोना पॉजिटिव मामले बाहरी राज्यों से लौटे है, केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार किया जा रहा कार्य

हिमाचल प्रदेश में 87 फीसदी कोरोना पॉजिटिव मामले बाहरी राज्यों से लौटे लोगों के हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश में 90 फीसदी ऐसे कोरोना पॉजिटिव मामले हैं।

जिन्हें अस्पताल आने की जरूरत नहीं है। बताया जा रहा है की कोविड केयर सेंटरों में ही उनका उपचार किया जा रहा है। अब प्रदेश सरकार ने केंद्र की नई

गाइडलाइन के अनुसार कोरोना संक्रमित 15 लोगों को होम क्वारंटीन किया है। इसी के साथ इनका उपचार घर में ही चल रहा है। इनमें से 05 लोग स्वस्थ हो गए हैं।

इसी के साथ स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर जाकर इनका उपचार कर रहे हैं। हिमाचल प्रदेश में बच्चे और बूढ़े लोगों की अपेक्षा ज्यादातर युवा कोरोना संक्रमण की चपेट में आए हैं।

बाहरी राज्यों से आए 62 परिवारों में से 169 लोग पॉजिटिव हुए

प्राप्त जानकारी के अनुसार अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने कैबिनेट में कोरोना को लेकर स्थिति स्पष्ट की। हिमाचल प्रदेश में बाहरी राज्यों से आए 62 परिवारों में से 169 लोग पॉजिटिव हुए हैं।

इसी के साथ दिल्ली से हिमाचल प्रदेश के ज्यादातर लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र से आए लोग भी संक्रमित पाए गए हैं।

हिमाचल प्रदेश में अभी कोरोना के 806 पॉजिटिव मामले सामने आये हैं। इनमें करीब साढ़े पांच सौ मामले दोनों राज्यों से लौटे लोगों के हैं।

यह स्थान पहले से रेड जोन में है। इन स्थानों से हिमाचल आने वाले अधिकतम लोग कोरोना संक्रमित पाए गए है।

कोविड केयर सेंटर में ही कोरोना पॉजिटिव का उपचार हो रहा

इसी के साथ अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने कहा कि जैसे-जैसे नए मरीज आ रहे हैं।

उसी रफ्तार से मरीज ठीक भी हो रहे है। प्रदेश में यदि कोई संक्रमित सामने आ रहा है। तो कई लोग कोरोना से जंग जीत रहे है। कहा जा

रहा है कि बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों को क्वारंटीन किया गया है। इनमें से ही लोग पॉजिटिव आ रहे हैं। जिन्हे कोविड केयर सेंटर में ही कोरोना पॉजिटिव का उपचार हो रहा है।

इसी के साथ बाहरी राज्यों में उपचार की व्यवस्था ठीक न होने पर लोग हिमाचल प्रदेश लौट रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *