सऊदी अरब में ही होगा मंडी के व्यक्ति का अंतिम संस्कार, कोरोना के कारण हुई थी मौत, परिजनों ने दी मंजूरी

हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी के सउदी अरब में कोरोना की वजह से हुई मौत के आगोश में सोए सरकाघाट उपमंडल के पारगी गांव के मृतक सुरेश कुमार का अंतिम संस्कार दुबई के दमन में ही होना तय हुआ है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुरेश कुमार का शरीर शुक्रवार को मिल जाएगा।

इसी के साथ शुक्रवार को ही सुरेश कुमार का अंतिम संस्कार भी दमन में पूरे हिंदू रीति रिवाजों के अनुसार कर दिया जाएगा। सुरेश कुमार के शरीर को पहले भारतीय दूतावास के अधिकारियों के सुपुर्द किया जाएगा।

04 दिन पहले अंतिम बार सुरेश का परिजनों से संपर्क हुआ था

इसी के साथ सुरेश कुमार के परिवार ने भी दमन में ही अंतिम संस्कार करवाने की अपनी सहमति दे दी है। सुरेश कुमार की 07 जून को कोरोना वायरस से मौत हो गई थी। इसी के साथ 07 जून को मौत होने से 04 दिन पहले अंतिम बार सुरेश का परिजनों से संपर्क हुआ था। उस के बाद उस की मौत की खबर परिजनों को सुनने को मिली।

परिजनों में मातम का माहौल

प्राप्त जानकारी के अनुसार इसके बाद उसकी मौत की खबर आई तो परिजनों में मातम का माहौल छा गया। इससे पहले जब सुरेश का सम्पर्क परिजनों से नई हो पाया तो इस स्तिथि में क्षेत्र के समाजसेवी व व्यवसायी चंद्र मोहन शर्मा ने अपने प्रयासों से पता करवाया और तब जानकारी मिली कि सुरेश कुमार की वहां मौत हो गई है और उसका शव अस्पताल में रखा गया है।

लेकिन कंपनी ने शव लेने से इनकार कर दिया है। इसके बाद चंद्र मोहन शर्मा ने भारतीय दूतावास के अधिकारियों से कई बार बातचीत की महर गुरुवार को चंद्रमोहन शर्मा को बताया गया कि अंतिम संस्कार के लिए परिवार की अनुमति चाहिए।

परिवार की अनुमति व अन्य सारी सूचनाएं दूतावास को दे दी

इसी के साथ वहीं चंद्र मोहन शर्मा ने बताया कि परिवार की अनुमति व अन्य सारी सूचनाएं दूतावास को दे दी गई हैं और शुक्रवार को शरीर ले लिया जाएगा और उसके बाद अंतिम संस्कार दमन में ही होगा। इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा की उसकी अस्थियां भारत लाने के प्रयास किए जाएंगे।

इसी के साथ जिला मंडी के सांसद राम स्वरूप शर्मा ने बताया कि वह विदेश मंत्रालय से मामला उठा रहे हैं। की प्रदेश के इस व्यक्ति का पुरे हिन्दू रीती रिवाजो के साथ अंतिम संस्कार किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *