प्रदेश के बीबीएन में कोरोना वायरस के इलाज के लिए रैमडैसाविर इंजेक्शन का उत्पादन जल्द होगा शुरू

देश-विदेश में में फैले कोरोना वायरस के इलाज के लिए हिमाचल प्रदेश के बीबीएन में रैमडैसाविर इंजेक्शन तैयार किया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार यह इंजेक्शन पहले इबोला वायरस से पीड़ित मरीजों पर इस्तेमाल किया गया था।

जांच के बाद इसे सार्स और अन्य संक्रमण के उपचार में भी परखा गया था। बताया जा रहा है की इसे अब कोविड-19

उपचार के लिए ट्रायल में परिणाम चौंकाने वाला आया है। इस रैमडैसाविर इंजेक्शन से 40 फीसदी तक सुधार देखा गया है।

बताया जा रहा है की अभी इसका ट्रायल जारी हैं लेकिन जुलाई अंत तक इसका उत्पादन शुरू होने की उम्मीद की जा रही है। जिसके बाद इस का उत्पादन भी शुरू कर दिया जाएगा।

फैबिफ्लू दवा निर्माण में अग्रणी औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन रैमडैसाविर इंजेक्शन का निर्माण करेगा

जानकारी के अनुसार एचसीक्यू, फैबिफ्लू दवा निर्माण में अग्रणी औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन रैमडैसाविर इंजेक्शन का निर्माण करेगा।

इसी के साथ बीबीएन की इमेक्यूल लाइफ साइंस प्राइवेट लिमिटेड को दवा निर्माण के लिए लाइसेंस जारी

किया गया है। बताया जा रहा है। इसी के साथ इमेक्यूल लाइफ साइंस प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर वायरल शाह ने बताया कि ट्रायल पूरा होने के बाद उत्पादन शुरू किया जाएगा।

100 एमजी का है यह इंजेक्शन

इसी के साथ अतिरिक्त दवा नियंत्रक डॉ. कमलेश नायक ने बताया कि इमेक्यूल लाइफ साइंस प्राइवेट लिमिटेड को रैमडैसाविर इंजेक्शन के ट्रायल का कांट्रेक्ट मिला है। बताया जा रहा है की इस इंजेक्शन का ग्लोबली पेटेंट ऑनर

गिलियाड है। इसी के साथ जानकरी के अनुसार इसका 100 एमजी का इंजेक्शन है। जिसका परीक्षण के दौरान रिजल्ट काफी अच्छे आये है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *