गुड मार्निंग तथा गुड नाइट सहित इस तरह के अन्य मैसेज पोस्ट करने पर रोक, स्कूल और कॉलेजों के प्रिंसिपलों को निर्देश जारी

हिमाचल प्रदेश में फैले कोरोना की बजह से लगे लॉकडाउन के कारण सभी सरकारी और निजी स्कूलों को बंद किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार के बच्चों की पढ़ाई और विभागीय कामकाज को सुचारु तौर पर चलाने के लिए बनाए गए व्हाट्सऐप ग्रुपों में गुड मार्निंग गुड नाइट सहित इस तरह के अन्य मैसेज पोस्ट करने पर रोक लगा दी गई है।

स्कूल और कॉलेजों को प्रिंसिपलों को निर्देश जारी

इसी के साथ सरकारी कार्य के लिए बनाए गए व्हाट्सऐप ग्रुप का दुरुपयोग करने वालों को उच्च शिक्षा निदेशालय ने कार्रवाई के प्रति चेताते हुए बुधवार को स्कूल और कॉलेजों को प्रिंसिपलों को निर्देश जारी किए हैं। तथा इस बारे में जानकारी दी गयी है की केवल उप्योगी सन्देश ही व्हाट्सऐप ग्रुपों में में पोस्ट की जाए अन्य फालतू मैसेज पर सरकार ने रोक लगाई है।

उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा ने निर्देश दिए

जानकारी के अनुसार महिला कर्मियों की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा ने निर्देश दिए कि कार्यालय समय के दौरान ही ग्रुप में पढ़ाई व आवश्यक निर्देशों से जुड़े मैसेज ही भेजे जाएं। इसी के साथ निर्देशों को नहीं मानने वालों की सूचना निदेशालय पहुंचने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। हिमाचल में फैले कोरोना वायरस से बचाव के लिए हुए लॉकडाउन को देखते हुए अप्रैल में सरकारी स्कूलों की पढ़ाई व्हाट्सऐप ग्रुप बनाकर शुरू की गई है।

ग्रुपों के माध्यम से अभिभावकों को रोजाना होम वर्क सहित पढ़ाई से संबंधित अन्य सामग्री भेजी जाती है

साथ ही इन ग्रुपों के माध्यम से अभिभावकों को रोजाना होम वर्क सहित पढ़ाई से संबंधित अन्य सामग्री भेजी जाती है। इन ग्रुपों को हिमाचल प्रदेश स्तर से लेकर स्कूल स्तर तक बनाया गया है। इसी के साथ रिसोर्स पर्सन रोजाना जिला अधिकारियों को शिक्षण सामग्री भेजते हैं। तथा इन ग्रुपो द्वारा ही छात्रों को पढ़ाई करवाई जा रही है।

ग्रुपों में सिर्फ गुड मार्निंग गुड नाइट सहित अन्य गैर आवश्यक फोटो और वीडियो ही डाले जा रहे

इसी दौरान जिला अधिकारी ब्लाक स्तर पर इन्हें फारवर्ड करते हैं तथा इसके बाद स्कूल प्रिंसिपलों और शिक्षकों तक सामग्री पहुंचती है। इसी के साथ उच्च शिक्षा निदेशालय के पास शिकायतें पहुंची हैं कि कुछ ग्रुपों में सिर्फ गुड मार्निंग गुड नाइट सहित अन्य गैर आवश्यक फोटो और वीडियो ही डाले जा रहे हैं। जिस से समय की बर्बादी तथा मत्वपूर्ण मैसेज को पड़ने में दिक्कत हो रही है।

महिला कर्मी विशेषकर परेशान

इसी के साथ सुबह 05 बजे से लेकर रात 12 बजे तक इस तरह के मैसेज आने से महिला कर्मी विशेषकर परेशान हैं। इस पर संज्ञान लेते हुए उच्च शिक्षा निदेशालय ने सभी स्कूल-कॉलेज प्रिंसिपलों को एहतियात बरतने को कहा है तथा अन्य मैसेज करने पर रोक लगाई है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा की यदि कोई छात्रों फिर भी ग्रुप का दुरुपयोग करता है। तो उस पर करवाई की जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *