तिब्बती यूथ कांग्रेस के सदस्यों ने मैक्लोडगंज में चीन सरकार के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन

हिमाचल प्रदेश के जिला काँगड़ा में भारत-चीन के बीच एलएसी पर गलवां घाटी में हुई हिंसक झड़प और सेना के जवानो पर हुए हमले को लेकर मैक्लोडगंज स्थित निर्वासित तिब्बत सरकार के मुख्यालय के पास तिब्बतियों ने चीन के खिलाफ विरोध जताया। प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को तिब्बती यूथ कांग्रेस के सदस्यों ने मैक्लोडगंज में चीन सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

इसी के साथ संगठन के तिब्बती सदस्यों ने हाथ में बैनर लेकर तिब्बतियों, भारतीयों और पूरी दुनिया के लोगों को चीन में बने उत्पादों का बहिष्कार करने के लिए कहा साथ ही इन्होने चीन को प्रदेश भर में फैले कोरोना का कारण बताया।

कोरोना के चिह्न वाला लाल रंग का एक गुब्बारा बना के मेड इन चाइना लिखा

इसी के साथ धर्मगुरु दलाईलामा के निवास स्थान और निर्वासित तिब्बत सरकार के मुख्यालय के पास तिब्बतियों ने चीन सरकार के खिलाफ जमकर नारे बाज़ी की साथ ही उन्होंने चीन के ऊपर अपनी पूरी भड़ास निकाली। मैक्लोडगंज में तिब्बतियों ने कोरोना के चिह्न वाला लाल रंग

का एक गुब्बारा भी बनाया था। उस गुब्बारे पर मेड इन चाइना लिखा। यानी इस गुब्बारे के जरिये साफ संदेश दिया कि कोरोना वायरस चीन से आया है जिससे पूरी दुनिया त्रस्त है साथ ही उन्होंने चीन को इस इस का ज़िमेदार बताया।

मैक्लोडगंज में चीन सरकार के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया

इसी के साथ उन्होंने तिब्बतियों ने मैक्लोडगंज में चीन सरकार के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान भी चलाया। जानकारी के अनुसार उन्होंने तिब्बतियों से कहा कि इस विरोध प्रदर्शन से अब वह पूरी दुनिया में चीन में बने उत्पादों का बहिष्कार करने के लिए अभियान चलाएंगे। साथ ही दुनिया के 213 देशों के लोग कोरोना वायरस से परेशान हैं। जिस की बजह चीन है।

Members of Tibetan Youth Congress protest against Chinese government in McLeodganj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *