त्रिलोकीनाथ मंदिर के कपाट स्थानीय श्रद्धालुओं के लिए खुले, मंदिर कमेटी सरकार के दिशा-निर्देशों का पूरा पालन कर रही

हिमाचल प्रदेश में कोरोना से जंग के बीच त्रिलोकीनाथ मंदिर के कपाट स्थानीय श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार श्रद्धालु यहां आराध्य देव के दर्शन कर सकते हैं।

बताया जा रहा है की प्रसाद ग्रहण करने, घंटी बजाने, सत्य और पाप स्तंभ के बीच से

गुजरने और गर्भगृह की परिक्रमा करने पर पाबंदी है। प्रदेश में फैले कोरोना के चलते यह नियम बनाये गए है। जिला में कोरोना संक्रमण का एक भी मामला नहीं है।

फिर भी एहतियातन मंदिर कमेटी सरकार के दिशा-निर्देशों का पूरा पालन कर रही है। इसी के साथ बाकायदा श्रद्धालुओं की कम संख्या में भी सामाजिक दूरी रखी जा रही है।

सूर्यग्रहण के दौरान काफी श्रद्धालु त्रिलोकी नाथ मंदिर में दर्शन करने पहुंचे

जानकारी के अनुसार बीते रविवार को सूर्यग्रहण के दौरान काफी श्रद्धालु त्रिलोकी नाथ मंदिर में दर्शन करने पहुंचे।

इसी के साथ प्रदेश में मंदिर से दर्शन कर लौटे तोद घाटी के क्वारिंग गांव के सोनम छेरिंग ने कहा कि मंदिर कमेटी ने कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सरकार के तमाम

दिशा-निर्देशों का पालन किया है। इसी दौरान उन्होंने कहा कि मंदिर गर्भगृह की परिक्रमा, सत्य व पाप के स्तंभ के बीच न गुजरने से भगवान के दर्शन करना अधूरा सा लगता है।

इसी के साथ मंदिर के पुजारी लामा रिगजिन ने कहा कि मंदिर में रोजाना श्रद्धालुओं की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है।

श्रदालुओ को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मंदिर में भेजा जा रहा

त्रिलोकीनाथ मंदिर हिमाचल प्रदेश में स्तित एक बहुत ही लोकप्रिय धार्मिक स्थान है। कमेटी के अध्यक्ष एवं एसडीएम उदयपुर कृष्ण चंद ने बताया कि कोविड-19 को लेकर सरकार के आदेशों का पालन किया जा रहा है।

साथ ही बाहरी श्रद्धालु नहीं, स्थानीय लोग दर्शन को पहुंच रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मंदिर में भेजा जा रहा है। तहा दर्शन करने के बाद श्रदालु आराम से अपने घर जा रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *